ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसबेपटरी होगी देश की इकोनॉमी, GDP पर क्रिसिल के नए अनुमान से आशंका

बेपटरी होगी देश की इकोनॉमी, GDP पर क्रिसिल के नए अनुमान से आशंका

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल को अनुमान है कि वित्त वर्ष 23 में भारत का जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) ग्रोथ 7.8 फीसदी से घटकर 7.3 फीसदी पर आ जाएगा। हालांकि, ये डाटा आरबीआई के अनुमान के करीब है।

बेपटरी होगी देश की इकोनॉमी, GDP पर क्रिसिल के नए अनुमान से आशंका
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Jul 2022 05:54 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

तेल की ऊंची कीमतें, निर्यात मांग में कमी और उच्च मुद्रास्फीति की वजह से देश की इकोनॉमी बेपटरी होगी। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के नए अनुमान के बाद इस तरह की आशंका जताई जा रही है। क्रिसिल को अनुमान है कि वित्त वर्ष 23 में भारत का जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) ग्रोथ 7.8 फीसदी से घटकर 7.3 फीसदी पर आ जाएगा। 

आरबीआई के अनुमान के करीब: हालांकि, क्रिसिल का अनुमान केंद्रीय रिजर्व बैंक के 7.2 वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि के अनुमान के अनुरूप है। आपको बता दें कि केंद्रीय रिजर्व बैंक ने जून में भू-राजनीतिक तनाव के नकारात्मक फैलाव और वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी को लेकर आगाह किया था। 

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने 2022-23 की तीसरी मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा था कि अप्रैल और मई 2022 के लिए उपलब्ध जानकारी से संकेत मिलता है कि घरेलू आर्थिक गतिविधियों में सुधार स्थिर बना हुआ है। 

ये पढ़ें-नवजात से 5 साल तक का सफर, आलोचनाओं के बीच यूं निखरता गया टैक्स स्ट्रक्चर

कच्चे तेल पर अनुमान:  क्रिसिल को उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2023 में वैश्विक कच्चे तेल का औसत 105-110 डॉलर प्रति बैरल के बीच रहेगा, जो पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 35% अधिक है।

epaper