Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़PM Modi speech impact 22 psu stock turn multibagger 24 lakh crore rs profit check detail - Business News India

PM मोदी के भाषण का असर! रॉकेट बन गए 22 सरकारी कंपनी के शेयर

बुधवार को भाषण देते हुए प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों का आरोप लगाने वाले पहले वह यह बताएं कि एमटीएनएल, बीएसएनएल, एयर इंडिया को किसने बर्बाद किया था।

Deepak Kumar लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीWed, 7 Feb 2024 10:40 PM
हमें फॉलो करें

10 अगस्त 2023, इस तारीख को संसद में विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाषण दिया था। इस भाषण के दौरान पीएम मोदी ने विपक्ष पर चुटकी लेते हुए कहा था कि जिन सरकारी कंपनियों पर विपक्ष सवाल उठाए, उसपर दांव लगा देना चाहिए। क्योंकि ये जिसे बुरा कहते हैं, उसका भला होता है। पीएम के इस भाषण के करीब छह महीने में सरकारी कंपनियों के शेयर ने निवेशकों को मल्टीबैगर रिटर्न दे दिया है। 

इस अवधि में सरकारी कंपनियों के सूचकांक बीएसई पीएसयू इंडेक्स का कुल बाजार मूल्य 66% बढ़कर 59.5 लाख करोड़ रुपये हो गया है, जिससे निवेशकों को 23.7 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ। अहम बात है कि सूची में किसी भी पीएसयू स्टॉक ने निगेटिव रिटर्न नहीं दिया है। इनमें भी 22 शेयर ने मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। यहां तक ​​कि सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला पीएसयू एसबीआई भी छह महीने की अवधि में 12% चढ़ा है। वहीं, टॉप गेनर में एनबीसीसी रहा जिसने 249% तक रिटर्न दे दिया।

ये बड़े शेयर भी शामिल
इसी तरह, रेलवे से जुड़ी कंपनी आईआरएफसी के शेयर में छह महीने की अवधि के दौरान 225% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अन्य शीर्ष पीएसयू मल्टीबैगर शेयरों में हुडको, आईटीआई, एसजेवीएन, कोचीन शिपयार्ड, एमएमटीसी, बीएचईएल, आरईसी, मैंगलोर रिफाइनरी, आरवीएनएल, पीएफएस, एनएमडीसी, एनएलसी इंडिया, इरकॉन, द न्यू इंडिया एश्योरेंस और जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन शामिल हैं। 

LIC का भी जिक्र
पीएम मोदी ने अगस्त 2023 में भाषण के दौरान बीमा दिग्गज कंपनी एलआईसी का जिक्र किया था, जिसका स्टॉक 56% बढ़ गया है। इसी तरह, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के शेयर 55% रिटर्न दे चुके हैं। बता दें कि एलआईसी के शेयर अब अपने आईपीओ इश्यू प्राइस से ऊपर कारोबार कर रहे हैं। 

एक बार फिर बोले पीएम मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को सदन में कहा कि सावर्जनिक क्षेत्र की कंपनियां रिकॉर्ड रिटर्न दे रही हैं और इनपर निवेशकों का भरोसा बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव को लेकर चर्चा का जवाब देते हुए यह भी कहा कि देश में 2014 में 234 सार्वजनिक उपक्रम थे लेकिन आज इनकी संख्या 254 है। उन्होंने कहा- सावर्जनिक क्षेत्र की कंपनियां रिकॉर्ड रिटर्न दे रही हैं और इनपर निवेशकों का भरोसा बढ़ रहा है। बीएसई में सार्वजनिक उपक्रमों का सूचकांक बीते दो साल में दोगुना हो गया है।

2 साल में कितना बढ़ा सूचकांक
बता दें कि बीएसई पीएसयू सूचकांक में पिछले दो साल में लगभग 106 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई। हालांकि, इस दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 25.22 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में भी इस दौरान अच्छी तेजी देखी गई। 

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें