ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेस14 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में सरकार डालेगी पैसे, विजयादशमी से पहले तोहफा!

14 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में सरकार डालेगी पैसे, विजयादशमी से पहले तोहफा!

अगर सबकुछ ठीक रहा तो विजयादशमी से पहले केंद्र सरकार करीब 14 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करेगी। इसमें पीएम किसान योजना के तहत 12वीं किस्त और 7वें वेतन आयोग के तहत मिलने वाले भत्ते हैं।

14 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में सरकार डालेगी पैसे, विजयादशमी से पहले तोहफा!
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 27 Sep 2022 04:20 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

अगर सबकुछ ठीक रहा तो केंद्र सरकार विजयादशमी से पहले करीब 14 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में पैसे डाल देगी। दरअसल, 28 सितंबर यानी कल होने वाली कैबिनेट बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ता/राहत (DA/DR) को मंजूरी मिलने की उम्मीद की जा रही है। 

कितने लोगों को फायदा: ऐसा अनुमान है कि DA/DR में 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी की जाएगी। अगर ऐसा होता है तो 1 करोड़ से ज्यादा कर्मचारी और पेंशनर्स का DA/DR बढ़कर 38 फीसदी हो जाएगा। ये बढ़े हुए भत्ते सितंबर की सैलरी के साथ जुड़कर आ जाएंगे। इसमें जुलाई और अगस्त का एरियर भी होगा। बता दें कि केंद्रीय कर्मचारियों की संख्या 48 लाख है तो वहीं 68 लाख से ज्यादा पेंशनर हैं।

पीएम किसान का पैसा: वहीं, 30 सितंबर को केंद्र सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना यानी पीएम किसान की 12वीं किस्त का ट्रांसफर कर सकती है। इसके तहत 12 करोड़ से ज्यादा किसानों के खाते में 2000 रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे। हालांकि, सरकार की तरफ से अभी पैसों को ट्रांसफर करने की तारीख को लेकर कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है लेकिन अनुमान है कि विजयादशमी से पहले किसानों को 12वीं किस्त दे दी जाएगी। 

ये पढ़ें-DA में इजाफे से पहले सरकार ने बदला ये नियम, केंद्रीय कर्मचारियों पर असर!

योजना की डिटेल: दरअसल, सरकार ने साल 2019 में पीएम किसान योजना की शुरुआत की थी। योजना के तहत सरकार हर साल आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को 6000 रुपये देती है। ये रकम तीन किस्तों में दी जाती है। पीएम किसान योजना के तहत किसानों के खाते में अब तक कुल 11 किस्त के पैसे आ चुके जा चुके हैं। आखिरी किस्त 11,19,83,555 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किए गए थे। अब 12वीं किस्त के लिए 12 करोड़ से ज्यादा लोग दायरे में हैं। हालांकि, इसके लिए ई-केवाईसी अनिवार्य है।

epaper