DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्मियों की छुट्टियों में घूमने का है मन, तो ऐसे करें प्लान- मिलेंगे बड़े फायदे

Travel (Symbolic image)

गर्मियों की छुट्टियां शुरू होने वाली हैं। अगर गर्मी की छुट्टियों में घूमने की तैयारी कर रहे हैं तो ट्रैवल क्रेडिट कार्ड लेकर यात्रा का भरपूर लुत्फ उठा सकते हैं। ट्रैवल कार्ड से आप छुट्टियों के दौरान यात्रा को सुविधाजनक के साथ सुरक्षित भी बना सकते हैं। साथ ही पूरे ट्रिप के दौरान होटल में रुकने, खरीदारी, खाने-पीने में अच्छी रकम की बचत भी कर सकते हैं। अगर विदेश घूमने की योजना बना रहे हैं तो ट्रैवल कार्ड बहुत ही उपयोगी साबित होगा। ट्रेवल कार्ड क्या है और इसके फायदे कौन-से हैं पर पेश है रिपोर्ट। 
ट्रैवल क्रेडिट कार्ड क्या है?
ट्रेवल क्रेडिट कार्ड दिखने में डेबिट और क्रेडिट कार्ड जैसा ही होता है लेकिन इसके फीचर यात्री की जरूरतों को ध्यान में रखकर तैयार किये जाते हैं। क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने पर रिवॉर्ड प्वाइंट मिलते हैं, वहीं ट्रैवल कार्ड से खर्च करने पर हवाई अड्डे के लाउंज का उपयोग, हवाई टिकट, होटल में रुकने  और खरीदारी पर अच्छी छूट मिलती है। ट्रैवल कार्ड दो तरह के होते हैं ब्रांडेड और साधारण कार्ड। को-ब्रांडेड कार्ड पर अधिक छूट मिलती है लेकिन इसका चार्ज अधिक होता है। 
जरूरत के अनुसार कार्ड चुनें 
अधिकांश बैंक ट्रैवल क्रेडिट कार्ड मुहैया कराते हैं। आपका सैलरी या बचत खाता जिस बैंक में है उससे आप ट्रैवल क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन दे सकते हैं। हालांकि, कार्ड लेने से पहले आप अपनी यात्रा की आदतों को परख लें। इसके बाद जो कार्ड आप लेना चाह रहे हैं उसके ज्वाइनिंग शुल्क और वार्षिक शुल्क को पता करें। फिर उसपर आपको क्या-क्या छूट और सुविधाएं मिल रही है उसको दूसरे कार्ड से तुलना करें। हमेशा यह ख्याल रखें कि आप जो कार्ड लेने जा रहे हैं उसपर लगने वाला शुल्क बहुत ज्यादा नहीं हो। अगर आप बहुत ज्यादा घूमने वाले नहीं है तो कम शुल्क का कार्ड ही लें। 
एक्सचेंज शुल्क को पहले पता करें 
अगर आप विदेश में छुट्टियां मनाने की तैयारी कर रहे हैं तो कार्ड लेने से पहले उसपर लगने वाले करेंसी एक्सजेंज शुल्क को पहले पता करें। इसके साथ ही विदेशी लेनदेन शुल्क और नकद निकासी शुल्क को भी पता करें। आमतौर पर विदेशी लेनदेन शुल्क कुल लेनदेन का 1.5% और 3.5% के बीच होता है। वहीं नकद निकासी शुल्क कुल रकम का 1 से 4 प्रतिशत के बीच होता है। 
कम वार्षिक शुल्क वाले कार्ड्स लें 
ट्रैवल कार्ड लेने से पहले ऐसे कार्ड चुनें जो बहुत ज्यादा साइन-अप बोनस देता हो जिसे कम से कम खर्च पर रिडीम किया जा सके। इसलिए सिर्फ बोनस पर ध्यान न दें बल्कि इस बात पर भी नजर डालें कि आपको छोटी-मोटी खरीदारी करने पर साइन-अप बोनस मिलेगा या नहीं। इसके साथ ही वैसे कार्ड का चुनाव करें जिसका सालान शुल्क कम हो। 
बीमा कवर का अतिरिक्त लाभ 
आजकल अधिकांश बैंक अपने ट्रैवल क्रेडिट कार्ड परर बीमा कवर की सुविधा मुहैया करा रहे हैं। इसमें व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, पारिवारिक दुर्घटना बीमा, एयर एक्सीडेंट बीमा आदि मुख्य हैं। यानी अगर आप कार्ड लेते हैं तो आपको ट्रैवल इंश्योरेंस लेने की जरूरत नहीं होगी। आप एक बात हमेशा दिमाग में रखे आपका ट्रैवल कार्ड आपके अवकाश के खर्चों का मुख्य स्रोत है। इसलिए अपनी जरूरतों के मुताबिक ही आप कार्ड का चयन करें। 
खर्च को नियंत्रण करने में मददगार
ट्रैवल कार्ड से न सिर्फ आप टेंशन मुक्त छुट्टियों का मजा ले सकते हैं बल्कि अपने खर्च को नियंत्रित भी कर सकते हैं। कार्ड के जरिये हो रहे खर्चों को इंटरनेट बैंकिंग या एसएमएस अलर्ट के माध्यम से ट्रैक पर रख सकते हैं। इससे आपको पता होगा कि आप अपने बजट के बाहर तो खर्च नहीं कर रहे हैं। इससे बाद में आपके ऊपर वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा। कई बार ऐसे देखने में आता है कि घमूने के दौरान लोग अधिक खर्च लेते हैं और बाद में उसकी भरपाई करना मुश्किल हो जाता है। 
 कार्ड चुनने में न करें ये गलतियां 
अधिकांश बैंक अपने ट्रैवल क्रेडिट कार्ड पर एयरलाइन माइल्स प्रदान करते हैं लेकिन इसकी एक समय-सीमा होती है। इसके बाद संचित माइल्स खत्म हो जाता है। इसलिए आप बहुत ज्यादा यात्रा नहीं करते हैं तो आपको संचित माइल्स की अंतिम सीमा के बारे में जरूर जान लें नहीं तो वह ऑफर, आपके किसी काम का नहीं रहेगा। कभी भी कार्ड सिर्फ आकर्षक ऑफर पढ़कर ने लें। यह बड़ी गलती है। आप अपनी जरूरत को देखते हुए कार्ड का चुनाव करें। 
इन तीन बातों का ख्याल रखें 
1. पहले से जगह तय करें: घूमने का प्लान एकदम से तय नहीं करें। समय रहते आप जगह तय कर लें। इससे आप वहां के बारे में अच्छी तरह से जानकारी जुटा पाएंगे कि वहां कम खर्च में आपको अच्छा होटल कहां मिलेगा। उस शहर में घमूने और खाने-पीने की अच्छी जगह कौन-कौन सी होगी। 
2.खर्च का अनुमान लगायें: घमूने जोन से पहले आपको सभी खर्च का अनुमान लगा लेना चाहिए। इसमें यात्रा का टिकट, होटल का खर्च और वहां घमूने का खर्च आदि को शामिल करें। इससे आप खर्च का सही अनुमान लगा सकेंगे और यात्रा के दौरान आप फिजूल खर्चों से बच जाएंगे। 
3. पहले से शुरू कर दें बचत: अगर आप पूरे परिवार के साथ लंबी छुट्टी मानने जा रहे हैं तो उसके लिए आप बचत पहले से शुरू कर दें। आप एसआईपी के जरिए लिक्विड म्यूचुअल फंड, डेट फंड, आरडी का चयन कर सकते हैं। ऐसा कर आप यात्रा के दौरान अपने ऊपर आने वाले वित्तीय बोझ को कम पाएंगे। 
अतिरिक्त  सुविधाएं के चक्कर में न पड़ें
प्रत्येक क्रेडिट कार्ड कंपनी ग्राहकों को लुभाने के लिए विशेषताएं या सुविधाएं प्रदान करती है। वे फ्री टिकट, एक रात होटल में रुकने की व्यवस्था, प्रायॉरिटी बोर्डिंग, बिना शुल्क करेंसी एक्सजेंज जैसे सुविधाएं प्रदान करते हैं। ये सारे हथकंडे आपको कार्ड लेने के लिए प्रेरित करने के लिए होते हैं। लेकिन, इन लुभावनों ऑफर्स में नहीं फंसकर सिर्फ वही कार्ड खरीदें जो आपकी यात्रा संबंधी जरूरतों को पूरा कर सकने के नजरिए से सबसे अच्छी सुविधाएं देता हो। 
मिलते हैं ये सारे फायदे
घूमने के दौरान आपको कैश खत्म होने की चिंता नहीं होगी। 
विदेश घूमने जाते हैं तो करेंसी एक्सचेंज की चिंता नहीं रहेगी।  
कार्ड के जरिए आप उस देश की करेंसी आसानी से निकाल सकेंगे।
अधिकांश कार्ड इंटरनेशनल टोल फ्री नंबर के साथ आते हैं। इससे आपको संकट के समय मदद मिलती है।
499 रुपये से 5000 रुपये तक सालाना शुल्क लेते हैं ट्रैवल क्रेडिट कार्ड पर बैंक 
2.5 लाख डॉलर की अधिकतम राशि एसबीआई फॉरेन क्रेडिट कार्ड पर मिलता है।

'आयुष्मान भारत' योजना का लाभ लेने वालों की संख्या 20 लाख के पार, 3.07 करोड़ को ई-कार्ड जारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Planning to go for holidays than use travel card