DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑटो इंडस्ट्री में चल रही मंदी की मार का आसर, मारुती के 3000 कर्मचारियों की गई नौकरी

maruti suzuki

ऑटो सेक्टर में चल रही सुस्ती का असर कर्मचारियों की नौकरी पर पड़ रहा है। सुस्ती की मार झेल रही मारुति सुजुकी इंडिया के 3,000 से ज्यादा अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी चली गई है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने कहा वाहन उद्योग में नरमी को देखते हुए अस्थायी कर्मचारियों के अनुबंध का नवीनीकरण नहीं किया गया है जबकि स्थायी कर्मचारियों पर इसका प्रभाव नहीं पड़ा है।

भार्गव ने कुछ निजी टीवी चैनलों से बातचीत में कहा, "यह कारोबार का हिस्सा है , जब मांग बढ़ती है तो अनुबंध पर ज्यादा कर्मचारियों की भर्ती की जाती है और जब मांग घटती है तो उनकी संख्या कम की जाती है।" उन्होंने कहा, "मारुति सुजुकी से जुड़े करीब 3,000 अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी चली गई है।" 

यह भी पढ़ें -  संभावना : कमाई पर दोहरा टैक्स हो सकता है खत्म

भार्गव ने दोहराया कि वाहन क्षेत्र अर्थव्यवस्था में बिक्री, सेवा, बीमा, लाइसेंस, वित्तपोषण, चालक, पेट्रोल पंप, परिवहन से जुड़ी नौकरियां सृजित करता है। उन्होंने चेताया कि वाहन बिक्री में थोड़ी सी गिरावट से नौकरियों पर बड़े पैमाने पर असर पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Over 3000 temporary jobs cut due to slowdown in Maruti Suzuki