DA Image
8 अप्रैल, 2020|1:41|IST

अगली स्टोरी

कर सलाह: केवल कृषि से आय है तो पूरी तरह Tax Free

kisan mahakumbh mela organised in up

पारिवारिक पेंशन , दुकान से होने वाली बचत , आयकर रिटर्न, इनकम टैक्स, आवास भत्ता , ग्रेच्युटी, जीपीएफ, स्वास्थ्य बीमा, जीवन बीमा या निवेश, बचत जैसी चीजों के लिए इनकम टैक्स में छूट कैसे पाएं या वो सवाल जो आपको करते हैं परेशान तो घबराने के बजाय हमें लिखें। हमारे एक्सपर्ट चार्टेड अकाउंटेंट केसी गोदुका आपके सवालों का जवाब देंगे। आप अपनी समस्या को खबर के अंत में दिए गए पते पर भेज सकते हैं। फिलहाल हमारे कुछ पाठकों के सवाल और उनके जवाब नीचे दिए गए हैं। हो सकता है ऐसे सवालों में आपकी भी समस्या छिपी हुई हो..

सवाल: वेतन से मेरी सालाना आय दस लाख रुपये है। मेरे को खेती बाड़ी से भी दो लाख रुपये की आमदनी हो रही है। ऐसे में क्या खेती वाली आय भी कर के दायरे में आएगी? आएगी तो कितनी क्योंकि खेती करने की लागत भी पचास हजार के लगभग आ जाता है। -राजपाल बामनिया, भट्टू कलां, हरियाणा

जवाब: देखिये, अर्जित आय में से, उस पर होने वाले व्यय को कम कर देने के बाद, जो शेष बचता है वह ही कर योग्य आय होती है। आपके संदर्भ में खेती से आय 1.5 लाख रुपये होगी जो कि आयकर विवरणी में दिखानी होगी। वैसे तो आयकर की धारा 10(1) के अनुसार खेती से आय पूर्णतया कर मुक्त होती है। परन्तु यह उनके लिए है जिनकी खेती के अलावा अन्य कोई आय नहीं है।

यह भी पढ़ें: 640 रुपये बढ़ गया 10 ग्राम सोने का भाव, एक हफ्ते में चांदी की कीमत में 200 की उछाल

अन्यथा खेती की आय को अन्य आय के साथ जोड़ने पर थोड़ी बहुत कर देनदारी बढ़ जाती है। जैसे यदि आपका आयकर स्लैब खेती की आय को जोडने से 20 प्रतिशत में आ जाता है और केवल खेती की आय होने पर 5 प्रतिशत में रहता है तो फिर जब आप कर देनदारी ज्ञात करेंगे तो आप पर 15 प्रतिशत की अतिरिक्त कर देनदारी आएगी जो कि खेती की आय के साथ अन्य आय के होने पर बनेगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना का असर: पेट्रोल हो सकता है 4 रुपये तक सस्ता, पिछले एक महीने में 20 फीसद गिरा कच्चा तेल

सवाल:  मैं भारत सरकार का कर्मचारी हूं। मैं अपने खाते से तीन लाख रुपये अपनी पत्नी के खाते में ट्रासंफर कर पत्नी के नाम सावधि जमा (एफडी) में डालना चाहता हूं। मेरी पत्नी गृहिणी है और आयकर नहीं देती है। क्या एफडी से मिलने वाली ब्याज पर मुझे टैक्स देना होगा? -आलोक कुमार, दिल्ली

जवाब: जी हां। आयकर की धारा 64(1) के अनुसार एफडी से मिलने वाली ब्याज पर आपको ही कर अदा करना होगा।

सवाल:  मुझे 5.20 लाख रुपये अपने वेतन के निर्धारण पर केन्द्र सरकार से प्राप्त हुआ है। कारण की सरकार से मुझे वेतन का भुगतान नियमानुसार नहीं मिल रहा था। पांच साल के बाद जब अदालत का ऑर्डर आया तभी मुझे यह राशि प्राप्त हुई। मैं यह जानना चाहता हूं कि क्या मुझे इस राशि को अपनी आयकर विवरणी में दिखाना होगा? तथा क्या मुझे इस पर कर भी अदा करना होगा?  -प्रदीप कुमार, दिल्ली

जवाब: जी हां। आपको राशि प्राप्त होने वाले साल में इसे अपनी आयकर विवरणी में दिखाना होगा तथा इस पर देय कर भी अदा करना होगा।

सवाल: मैं वरिष्ठ नागरिक हूं और अपनी आयकर विवरणी जमा करता हूं। मुझे मेरे बेटे ने दुबई से 51,000 रुपये बचत खाता में भेजा है। यह बचत खाता मेरे और मेरे बेटे के नाम से है। पहला नाम मेरा है। क्या इस राशि को मुझे अपनी आयकर विवरणी कर निर्धारण वर्ष 2020-21 में दिखाना चाहिए। -प्रेम लाल

जवाब: देखिये पुत्र द्वारा पिता को दिया उपहार कर मुक्त होता है। अत: इसे आयकर विवरणी में जरूर दिखाना चाहिए ताकि भविष्य में किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।

आपका कोई सवाल है तो हमें इस पते पर लिखें

चार्टर्ड एकाउंटेंट, बिजनेस डेस्क, हिन्दुस्तान, सी-164, सेक्टर-63, नोएडा - 201301.

ईमेल:godukak@gmail.com

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:only income from agriculture is completely tax free Tax advice by expert