DA Image
21 अक्तूबर, 2020|6:46|IST

अगली स्टोरी

एमएसएमई का आज से ऑनलाइन पंजीकरण शुरू, नहीं मांगा जाएगा कोई डाक्यूमेंट

आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत एक जुलाई से ऑनलाइन पंजीकरण करा सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यम (एमएसएमई) शुरू कर सकेंगे। ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया में किसी प्रकार का दस्तावेज नहीं मांगा जाएगा। हालांकि उद्यमी के पास आधार नंबर होना अनिवार्य है जिससे उद्यमी को उद्योग आधार मेमोरेंडम (यूएएम)जारी किया जा सके।
सूक्ष्य, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय ने इस बाबत उद्यम पंजीकरण संबंधी अधिसूचना पहले ही जारी कर चुका है।

यह भी पढ़ें: चीनी उत्पादों के आयात पर लगेगा अंकुश, आयात के लिए लाइसेंस जरूरी होगा

इसके अनुसार कोई भी व्यक्ति जोकि सूक्ष्म, लघु अथवा मध्यम उद्योग स्थापति करना चाहता है उसे बस मंत्रालय के उद्यम पंजीकरण पोर्टल पर ऑनलाइन उद्यम पंजीकरण करा सकता है। पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी तरह से स्वघोषित व स्वप्रमाणित होगी। किसी प्रकार का कोई दस्तावेज अपलोड़ करने की जरूरत नहीं है। कोई शुल्क नहीं देना होगा। उसे पोर्टल पर फार्म को भरना होगा और अपना आधार नंबर दर्ज कराना अनिवार्य होगा। इसके बाद उद्यमी को स्थायी रूप से एक उद्यम पंजीकरण नंबर दिया जाएगा। 

ई-प्रणाम पत्र जारी किया जाएगा

पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद उद्यम पंजीकरण का ई-प्रणाम पत्र जारी किया जाएगा। उद्यम पंजीकरण मिलने पर इंटरप्राइज पिछले साल का जीएसटी रिटर्न व आईटीआर की विस्तृत जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर डालेगा। इस आधार पर इंटरप्राइज की श्रेणी का वर्गीकरण (सूक्ष्म, लघु, मध्यम) स्वत: हो जाएगा। यदि किसी इंटरप्राइज की तरफ से मशीनरी में नए निवेश या उसके टर्नओवर में बढ़ोत्तरी से उसकी श्रेणी बदल रही है तो भीउस साल उन्हें अपनी पुरानी श्रेणी में रहना पडेगा। अगले साल उनकी श्रेणी बदलेगी। एक जुलाई से मशीनरी में निवेश व टर्नओवर के आधार पर एमएसएमई की परिभाषा तय होगी।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Online registration of MSME starts today 1st July 2020 without any document