Oil Price Rupees Q4 Result federal reserve bank to drive share market - कच्चा तेल, रुपया, कंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे शेयर बाजार की चाल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कच्चा तेल, रुपया, कंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे शेयर बाजार की चाल

Nifty

घरेलू शेयर बाजार में पिछले सप्ताह भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला, जो मुख्य रूप से अंतरार्ष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में उछाल के बाद गिरावट और डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल से प्रेरित रहा। हालांकि कच्चे तेल की आपूर्ति को लेकर अनिश्चितता का माहौल अभी तक बना हुआ है, लेकिन इस सप्ताह बाजार की नजर जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों और फेड की बैठक के नतीजों पर होगी। इसके अलावा, प्रमुख घरेलू कंपनियों की चौथी तिमाही के नतीजे व चुनावी गहमा-गहमी के माहौल का भी भारतीय शेयर बाजार पर असर रहेगा।

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सप्ताह के आरंभ में सोमवार को लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होने के कारण घरेलू शेयर बाजार में अवकाश रहेगा। इसके बाद मंगलवार को वित्तीय बाजार में कारोबार जारी रहेगा, लेकिन बुधवार को महाराष्ट्र दिवस पर अवकाश होने के कारण भारतीय शेयर बाजार में कारोबार बंद रहेगा।

कुछ प्रमुख कंपनियां बीते वित्त वर्ष 2०18-19 की अंतिम तिमाही के नतीजे इस सप्ताह घोषित करनेवाली हैं, जिनमें कोटक महिंद्रा बैंक, अंबुजा सीमेंट, टीवीएस मोटर मंगलवार को अपने नतीजे जारी कर सकती हैं। वहीं, बुधवार को ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज और गुरुवार को टाटा पॉवर और डाबर इंडिया अपने नतीजे जारी कर सकती हैं। अगले दिन शुक्रवार को हिंदुस्तान लीवर के नतीजे आने वाले हैं।

उधर, अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की दो दिवसीय बैठक मंगलवार से शुरू हो रही है, जिसमें ब्याज दरों को लेकर फेड अपना फैसला लेगा। बैठक के बाद बुधवार को ही फेड चेयरमैन जेरोम पावेल प्रेस को संबोधित करेंगे।

फेड के फैसले पर दुनिया भर के शेयर बाजारों की नजर रहेगी और विदेशी शेयर बाजार के संकेतों से भारतीय शेयर बाजार भी प्रभावित रहेगा।

आर्थिक आंकड़ों की बात करें तो अप्रैल महीने का निक्केई इंडिया मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) डेटा गुरुवार को जारी हो सकता है। निक्केई इंडिया पीएमआई डेटा मार्च में पीएमआई 54.3 से घटकर 52.6 पर आ गया था, जोकि पिछले छह महीने का सबसे निचला स्तर था।

उधर, चीन में एनबीएस मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई डेटा अप्रैल महीने के लिए मंगलवार को जारी होंगे। पिछले महीने इसमें अप्रत्याशित वृद्धि हुई थी और यह 49.2 से बढ़कर 5०.5 हो गया था। गौरतलब है कि पीएमआई डेटा 5० से उपर का अच्छा माना जाता है, क्योंकि यह तरक्की का द्योतक होता है। 

अमेरिका में भी अप्रैल महीने का आईएसएम मैन्युफैक्चरिंग डेटा बुधवार को जारी होने वाला है, जो पिछले महीने 55.3 था। इसके अलावा अन्य कई आंकड़े भी इस सप्ताह जारी होंगे, जिसका असर भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों पर देखने को मिल सकता है, खासतौर से कारोबारी सप्ताह के आखिर में शुक्रवार को अमेरिका में गैर-कृषि क्षेत्र के रोजगार के आंकड़े जारी हो सकते हैं।

हालांकि घरेलू शेयर बाजार पर सीधा असर अंतरार्ष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में उतार-चढ़ाव और डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल का देखने को मिलेगा। इसके अलावा, लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 71 संसदीय क्षेत्रों में सोमवार को मतदान होगा। सात चरणों में हो रहे लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होगा और परिणाम 23 मई को आएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Oil Price Rupees Q4 Result federal reserve bank to drive share market