DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीयकृत बैंकों ने 8,582 लोगों को घोषित किया इरादतन चूककर्ता

Rs 3 lakh cr recovered from big corporate loan defaulters: FM

सरकार ने सोमवार को बताया कि राष्ट्रीय बैंकों ने वित्त वर्ष में 2018-19 के दौरान कुल 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया। लोकसभा में कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल और श्रीरंग अप्पा बारणे के प्रश्नों के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि 31 मार्च, 2019 तक राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा 8,121 मामलों में वूसली के लिए मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं।

उन्होंने सदन के समक्ष राष्ट्रीयकृत बैंकों के लिए इरादतन चूककर्ताओं से संबंधित आंकड़े पेश किए। इसके मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया गया। इसके साथ ही 2017-18 में 7,535 और 7,079 को चूककर्ता घोषित किया गया।

मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीयकृत बैंकों के आंकड़ों के मुताबिक विगत पांच वर्षों में 7,654 करोड़ रुपये की राशि इरादतन चूककर्ताओं से वसूल की गई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Number of wilful defaulters in nationalised banks up 60 pc to 8582 in 5 years Says Nirmala Sitharaman