No tax on FD above 5 year period know what exper say - 5 साल की FD पर नहीं देना होगा कोई टैक्स, जानें डिटेल्स DA Image
12 दिसंबर, 2019|6:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 साल की FD पर नहीं देना होगा कोई टैक्स, जानें डिटेल्स 

fixed deposit

सवाल - मैं बिहार सरकार में कार्यरत हूं। मैंने वित्त वर्ष 2018-19 में 60 हजार रुपये राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) में निवेश किया। क्या वित्त वर्ष 2019-20 के तहत या उसके बाद मुझे उस पर कर अदा करना होगा? दूसरा कर बचत हेतु वर्ष 2019-20 में बैंक की पांच साल की सावधि जमा (एफडी) में निवेश करना चाहती हूं। क्या उस पर मुझे वित्त वर्ष 2020-21 में या उसके बाद कर अदा करना होगा? अगर हां तो कैसे? -सांत्वना कुमारी, बिहार
जवाब - देखिए, कर बचत हेतु आपने जो एनएससी में निवेश किया है या जो पांच साल की एफडी में निवेश करना चाहती हो उस पर आगे के वर्षो में कोई कर अदा नहीं करना होगा। लेकिन, इस प्रकार के निवेश पर जो आय आपको प्रतिवर्ष अर्जित होगी उसे अपनी कर योग्य आय में जोड़कर कर अदा करना होगा। समझने के लिए एनएससी में किए गए 60 हजार रुपये के निवेश पर आपको 2019-20 के तहत 5,394 रुपये ब्याज के अर्जित होगी जिसे आपको अपनी कर योग्य आय में जोड़कर कर अदा करना होगा।

सवाल - वर्ष 1989 में मुझे लॉर्सन एंड टुबरो कंपनी ने कंवर्टीबल डिबेंचर्स आवंटित किये थे। उसके बाद कंपनी ने इन डिबेंचर्स को शेयरों में बदल दिया। इसके बाद इन शेयरो का विभाजन हुआ और मुझे बोनस शेयर भी प्राप्त हुए। वर्तमान में कंपनी के 650 शेयर मेरे पास हैं। इसी प्रकार से मेरे पास 2050 शेयर रिलाइंस के और 2500 शेयर टाइटन कंपनी के है। इनमें कोई भी शेयर बाजार से खरीदे हुए नहीं है अर्थात पब्लिक इश्यू (आईपीओ) के तहत ही अलॉट हुए हैं। इन सभी शेयरों की होल्डिंग अवधि लगभग 20 साल की है। इस दौरान अनेक बार बोनस शेयर भी प्राप्त हुए हैं। अभी वर्तमान में इन शेयरों को बेचना चाहता हूं। मेरी लंबी अवधि की पूंजी लाभ की कर देयता कैसे निकाली जाएगी? -आर.डी.पाल
जवाब - सर्वप्रथम तो यह समझना चाहिए की कंवर्टीबल डिबेंचर को शेयरों में बदलने पर आयकर नियमानुसार इसे हस्तांतरण नहीं माना जाता। अत: उस समय आपको कोई लंबी अवधि का पूंजी लाभ नहीं हुआ ऐसा मानना चाहिए। दूसरा बोनस शेयरों की लागत अर्थात खरीद मूल्य शुन्य ही माना जाता है। तीसरा आपके पास इन सभी शेयरों की होल्डिंग अवधि 20 साल या इससे अधिक की है। इसलिए आपके लिए 31 जनवरी 2018 की फेयर मार्केट वेल्यू को जानना महत्वपूर्ण होगा। कारण की इस दिन के बाजार मूल्य पर ही आपकी लंबी अवधि के पूंजी लाभ की गणना होगी क्योंकि आपके सभी शेयरों की खरीद 31 जनवरी 2018 के बाजार मूल्य से कम की ही है। इसलिए प्राप्त प्रतिफल में से 31 जनवरी के बाजार मूल्य को घटाने के बाद जो बचेगा *वही आपके लंबी अवधि का पूंजी लाभ माना जाएगा। उस पर आपको 10 प्रतिशत की दर से कर अदा *करना होगा।

सवाल - मेरे पिताजी की मृत्यु के बाद मेरा भाई हमारी पैतृक संपत्ति जो मकान है को विक्रय कर रहा है। इसमें हम चार भाई-बहन का हिस्सा है। मेरे हिस्से की आय पर क्या आयकर अदा करना होगा? अगर मैं इस आय को अन्य संपति को क्रय करने में लगा दूं तो क्या फिर भी आयकर देना होगा? मैं पेंशन भोगी आईटीआर-1 द्वारा आयकर दाता हूं। -सुमनलता , मेरठ

जवाब - जी हां। आपको अपने हिस्से की आय पर कर अदा करना होगा। अगर आप प्राप्त लाभ को किसी अन्य मकान संपति को क्रय करने में निवेश करते हैं तो फिर आयकर से बचा जा सकता है।

के.सी.गोदुका, चार्टर्ड एकाउंटेंट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No tax on FD above 5 year period know what exper say