No plan to completely ban petrol diesel vehicles Says Dharmendra Pradhan - 'पेट्रोल-डीजल वाहन को पूरी तरह बंद नहीं करेंगे' DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'पेट्रोल-डीजल वाहन को पूरी तरह बंद नहीं करेंगे'

dharmendra pradhan

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को कहा कि सरकार की निकट भविष्य में पेट्रोल और डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की कोई योजना नहीं है, लेकिन पर्यावरण को बचाने और कच्चे तेल के आयात में कटौती के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देना जारी रखा जाएगा।

प्रधान ने कहा कि ई-वाहन प्राथमिकता में है लेकिन ईंधन की बढ़ती जरूरतों को बीएस-6 मानक वाले पेट्रोल एवं डीजल, सीएनजी, जैवईंधन के साथ ही  ई-वाहन सभी को मिला जुलाकर पूरा किया जाएगा।  भारत में 2018-19 में 21.16 करोड़ टन पेट्रोलियम उत्पादों की खपत हुई थी। इसमें डीजल का हिस्सा 8.35 करोड़ टन और पेट्रोल का 2.83 करोड़ टन था।

प्रधान ने कहा कि भारत में ऊर्जा की मांग दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ रही है और कोई भी एक स्त्रोत इस मांग को पूरा नहीं कर सकता है। इसके लिए कई ईंधनों के अलग अलग विकल्पों की जरूरत होगी। देश में एक अप्रैल 2020 से यूरो- छह मानक के पेट्रोल, डीजल का इस्तेमाल शुरू होगा।

इसके साथ ही सरकार वाहनों में खासतौर से सार्वजनिक वाहनों में सीएनजी के इस्तेमाल को बढ़ाने पर जोर दे रही है। सरकार पेट्रोल, डीजल में भी एथनॉल और दूसरे खाद्य तेलों के मिश्रण पर जोर दे रही है ताकि परंपरागत तेल पर निर्भरता को कम किया जा सके।  नीति आयोग के अनुसार 2030 तक इलेक्ट्रिक वाहनों की 100 प्रतिशत बिक्री से भारत की तेल आयात निर्भरता काफी कम हो जाएगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No plan to completely ban petrol diesel vehicles Says Dharmendra Pradhan