DA Image
16 अप्रैल, 2021|5:21|IST

अगली स्टोरी

पेट्रोल-डीजल की कीमतें कब और कैसे कम होंगी ? वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अफसोस जताते हुए यह दिया जवाब

finance minister nirmala sitharaman speaks on fuel price hike   it s a vexatious issue in which no a

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान सामने आ रहा है। उन्होंने कहा, "यह अफसोसनाक मुद्दा है और कीमतें में कमी के अलावा कोई भी जवाब लोगों को संतुष्ट नहीं कर सकता। केंद्र और राज्य दोनों को उपभोक्ताओं के लिए उचित स्तर पर खुदरा ईंधन मूल्य में कमी लाने के लिए बात करनी चाहिए ।" चेन्नई में वित्त मंत्री ने कहा कि OPEC देशों ने उत्पादन का जो अनुमान लगाया था, वह भी नीचे आने की संभावना है जो फिर से चिंता बढ़ा रहा है। तेल के दाम पर सरकार का नियंत्रण नहीं है। इसे तकनीकी तौर पर मुक्त कर दिया गया है तेल कंपनियां कच्चा तेल आयात करती हैं , रिफाइन करती हैं और बेचती हैं।

बता दें आज केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने भी कहा है कि पेट्रोल और डीज़ल के दाम वैश्विक बाज़ार तय करता है, हमने महंगाई कम करने के लिए समय-समय पर दाम घटाया है। भारत सरकार इनके दाम घटाने के लिए कृतसं​कल्पित रहती है। वहीं विपक्ष पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर है। पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी पर AAP नेता राघव चड्ढा कहते हैं, " प्रवक्ता भारतीय जनता पार्टी जिस प्रकार से इस देश को लूट रही है, जिस प्रकार से गरीब लोगों की कमर तोड़ रही है और लोगों की जेब पर डाका डाल रही है, मुझे नहीं लगता है इस देश के इतिहास में इस तरह से किसी भी सरकार ने किया होगा।"

ईंधन पर सबसे ज्यादा वैट वसूलने वाले राज्य राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, " जिस समय पेट्रोल-डीज़ल महंगा हो जाता है,उसी समय महंगाई बढ़ जाती है। महंगाई बढ़ाकर इन्होंने पूरे मध्यम वर्ग,गरीब, किसान,नौजवान सबके ऊपर भार डाला है। BJP ने इतनी महंगाई कर दी कि गरीब ये सोच रहा है कि हम बचाएं क्या..खाएं क्या? और वो तर्क दे रहे हैं कि इससे देश बनेगा।"

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा वैट लेता है राजस्थान, सीएम गहलोत बोले-दाम बढ़ने के लिए मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां जिम्मेदार

बता दें  पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आज भी कोई राहत नहीं मिली है। आज लगातार 12वें दिन तेल के दाम में  बढ़ोतरी हुई है। शनिवार को दिल्ली में पेट्रोल 39 पैसे प्रति लीटर चढ़ कर 90.58 रुपये पर चला गया। डीजल भी 37 पैसे का छलांग लगा कर 80.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल 101.22 पर नॉटआउट है तो वहीं मध्य प्रदेश के भोपाल में अपने पहले शतक से केवल 40 पैसे दूर है। हालांकि अनूपपुर जिले में सामान्य पेट्रोल की कीमत पहले ही 100 रुपये का आंकड़ा पार चुकी है। आज यहां 100.98 रुपये लीटर बिक रहा है।

यह भी पढ़ें: 200 रुपये प्रति किलो तक महंगी हुई चाय पत्ती, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का सभी चीजों पर असर

पेट्रोल-डीजल के क्यों बढ़ रहे दाम, 31.82 के तेल का रेट 100 रुपये क्यों ? दुनिया में कहां सबसे सस्ता कहां है Petrol

ब्रांडेड पेट्रोल 104 रुपये तो डीजल  96.90 रुपये लीटर

राजस्थान और मध्यप्रदेश में ब्रांडेड पेट्रोल पहले से ही 100 के पार बैटिंग कर रहा है। श्रीगंगानगर में ब्रांडेड पेट्रोल 104 रुपये तो डीजल  96.90 पैसे लीटर है। वहीं भोपाल में यही पेट्रोल 101.51 रुपये लीटर है। देखें देश के प्रमुख शहरों में आज किस भाव पर बिक रहा पेट्रोल और डीजल...

शहर का नाम पेट्रोल रुपये/लीटर

डीजल रुपये/लीटर

श्रीगंगानगर 101.22 93.23
इंदौर 98.69 89.34
भोपाल 98.6 89.23
जयपुर 97.1 89.44
मुंबई 97 88.06
पुणे 96.64 86.38
बेंगलुरु 93.61 85.84
पटना 92.91 86.22
चेन्नई 92.59 85.98
कोलकाता 91.78 84.56
दिल्ली 90.58 80.97
लखनऊ 88.86 81.35
रांची 88.08 85.6
चंडीगढ़ 87.16 80.67

स्रोत: IOC

साल 2021 में पेट्रोल अब तक 6.46 रुपये महंगा हो चुका है। हालांकि, जनवरी और फरवरी में महज 24 दिन ही पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़े। वहीं इन्हीं 24 दिनों में डीजल 06.77 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।  पिछले 10 महीने में ही इसके दाम में करीब 17 रुपये की बढ़ोतरी हो चुकी है।

 

यह भी पढ़ें: घर के बजट पर पड़ेगी माल भाड़े की मार, आम जनता पर पड़ेगा महंगाई का बोझ

ऐसे बढ़ जाता है पेट्रोल-डीजल का रेट

पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। अगर केंद्र सरकार की एक्साइज ड्यूटी और राज्य सरकारों का वैट हटा दें तो डीजल और पेट्रोल का रेट लगभग 27 रुपये लीटर रहता, लेकिन चाहे केंद्र हो या राज्य सरकार, दोनों किसी भी कीमत पर टैक्स नहीं हटा सकती। क्योंकि राजस्व का एक बड़ा हिस्सा यहीं से आता है। इस पैसे से विकास होता है।

हर सुबह होती तय होती हैं कीमतें

दरअसल विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज़ाना पेट्रोल और डीजल के रेट तय करती हैं। इंडियन ऑयल , भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम रोज़ाना सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं। 

SMS के जरिए ऐसे जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के रेट

आप अपने शहर के पेट्रोल-डीजल के दाम रोजाना SMS के जरिए भी चेक कर सकते है। इंडियन ऑयल (IOC) के उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9224992249 नंबर पर व एचपीसीएल (HPCL) के उपभोक्ता HPPRICE <डीलर कोड> लिखकर 9222201122 नंबर पर भेज सकते हैं। बीपीसीएल (BPCL) उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज सकते हैं। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:no option but to reduce the rising prices of petrol and diesel both the Center and the state will have to take measures said Finance Minister