DA Image
17 जनवरी, 2020|7:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

म्यूचुअल फंड में निवेश रिकॉर्ड पर

mutual funds

बैंक और सार्वजनिक उपक्रम कोष समेत बांड वाली योजनाओं में निवेश बढ़ने से म्यूचुअल फंड का संपत्ति आधार नवंबर में 27 लाख करोड़ रुपये के रिकार्ड स्तर के पार निकल गया। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) के आंकड़े के अनुसार उद्योग में कार्यरत 44 कंपनियों की प्रबंधन अधीन परिसंपत्ति नवंबर अंत में 3 प्रतिशत बढ़कर 27.04 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गयी जो अक्टूबर अंत में 26.33 लाख करोड़ रुपये थी।

म्यूचुअल फंड कंपनियों का कुल पूंजी प्रवाह पिछले महीने 54,419 करोड़ रुपये रहा जो अक्टूबर में 1.33 लाख करोड़ रुपये था। कोष प्रबंधकों के अनुसार संपत्ति आधार बढ़ने का मुख्य कारण बांड से जुड़ी निश्चित आय वाली योजनाओं में करीब 51,000 करोड़ रुपये का निवेश होना रहा है। ऋण प्रतिभूतियों वाली योजनाओं में एक दिन की परिपक्वता अवधि वाली प्रतिभूतियों में सर्वाधिक 20,650 करोड़ रुपये मूल्य का निवेश हुआ।

इसके अलावा बैंक तथा पीएसयू कोष में 7,230 करोड़ रुपये जबकि लिक्विड फंड में 6,938 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश हुआ। इसके साथ ही अल्प अवधि के लिसे ट्रेजरी बिल, जमा प्रमाणपत्र तथा वाणिज्यिक पत्र में निवेश किये गये। खुली सतत इक्विटी योजना में 1,312 करोड़ रुपये की पूंजी डाली गयी जबकि निश्चित अवधि वाली इक्विटी योजनाओं में 379 करोड़ रुपये की पूंजी निकासी हुई। इस प्रकार, शुद्ध रूप से इक्विटी निवेश 933 करोड़ रुपये रहा।

अक्टूबर महीने में इन योजनाओं में शुद्ध प्रवाह 6,015 करोड़ रुपये रहा। एएमएफआई के मुख्य कार्यपालक अधिकारी एन एस वेंकटेश ने कहा, ''नवंबर में इक्विटी निवेश शुद्ध रूप से घटा। इसका कारण निवेशकों की मुनाफावसूली है। म्यूचुअल फंड उद्योग की प्रबंधन अधीन परिसंपत्ति रिकार्ड 27 लाख करोड़ रुपये पहुंच गयी।"

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mutual Funds asset base hit all time high of Rs 27 lakh cr