ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसमुकेश अंबानी की बड़ी डील: इस अमेरिकी कंपनी में 1.2 करोड़ डॉलर में खरीदी हिस्सेदारी, रिलायंस ने दी जानकारी

मुकेश अंबानी की बड़ी डील: इस अमेरिकी कंपनी में 1.2 करोड़ डॉलर में खरीदी हिस्सेदारी, रिलायंस ने दी जानकारी

इस कंपनी का हेडक्वार्टर संयुक्त राज्य अमेरिका के Pasadena, California में है। यह कंपनी perovskite- आधारित सौर टेक्नोलाॅजी की है।

मुकेश अंबानी की बड़ी डील: इस अमेरिकी कंपनी में 1.2 करोड़ डॉलर में खरीदी हिस्सेदारी, रिलायंस ने दी जानकारी
Varsha Pathakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 23 Sep 2022 09:19 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Mukesh Ambani Latest News: मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance industries) ने न्यू एनर्जी सेक्टर में एक बड़ी डील की पूरी की है। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली रिलायंस न्यू एनर्जी लिमिटेड (Reliance New Energy -RNEL), ने अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित कैलक्स कॉर्पोरेशन में निवेश की घोषणा की है। अगली पीढ़ी की सौर प्रौद्योगिकी का विकास करने वाली कैलक्स में 20% हिस्सेदारी के लिए रिलायंस न्यू एनर्जी 1.2 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी। इस निवेश से ‘एडवांस सोलर सेल टेक्नोलॉजी’ में कंपनी को मजबूती मिलने की उम्मीद है।

यह निवेश कैलक्स को प्रौद्योगिकी विकास और अमेरिकी के साथ दुनिया भर के बाजारों में पैर जमाने में मदद करेगा। दोनों कंपनियों ने इसके लिए एक रणनीतिक साझेदारी समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। दरअसल कैलक्स, पेरोव्स्काइट-आधारित सोलर टैक्नोलॉजी के लिए जानी जाती है। कंपनी उच्च दक्षता वाले सौर मॉड्यूल बनाती है जो 20% अधिक ऊर्जा का उत्पादन कर सकती है। 25 साल तक बिजली पैदा कर सकने वाले, इसके सोलर प्रोजेक्ट की लागत भी काफी कम होती है। 

क्या है रिलायंस का प्लान?

रिलायंस गुजरात के जामनगर में एक विश्वस्तरीय, एकीकृत फोटोवोल्टिक गीगा फैक्ट्री स्थापित कर रही है। इस निवेश के साथ ही रिलायंस, कैलक्स के उत्पादों का लाभ उठा सकेगी और ‘अधिक शक्तिशाली’ और कम लागत वाले सौर मॉड्यूल्स का उत्पादन कर सकेगी। इस निवेश के बारे में बात करते हुए, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और एमडी, मुकेश डी अंबानी ने कहा, “कैलक्स में निवेश ‘विश्व स्तरीय हरित ऊर्जा निर्माण’ ईको सिस्टम बनाने की हमारी रणनीति के अनुरूप है। हमारा मानना है कि कैलक्स की पेरोव्स्काइट-आधारित सोलर टैक्नोलॉजी और क्रिस्टलीय सौर मॉड्यूल, हमें अगले चरण तक पहुंचने में मदद करेंगे। हम इसके उत्पाद विकास और इसकी प्रौद्योगिकी के व्यावसायीकरण में तेजी लाने के लिए कैलक्स टीम के साथ काम करेंगे।

यह भी पढ़ें- RBI ने आज एक और बैंक का लाइेंसस रद्द किया: तत्काल प्रभाव से बंद करने का दिया निर्देश, ग्राहकों पर टूटा कहर

कैलक्स कॉर्पोरेशन के सीईओ, स्कॉट ग्रेबील ने रिलायंस के एक प्रमुख निवेशक के रूप में शामिल होने पर खुशी जताते हुए कहा कि “हम क्रिस्टलीय सौर मॉड्यूल को अधिक कुशल और किफायती बनाने और अपनी विनिर्माण क्षमताओं के विस्तार पर ध्यान देंगे। हम रिलायंस की वैश्विक विस्तार योजनाओं और उत्पाद रोडमैप का सपोर्ट करते हैं।“ इस सौदे के लिए किसी नियामक के अनुमोदन की आवश्यकता नहीं होगी और सितंबर 2022 के अंत तक इसके पूरा होने की उम्मीद है।

एजीएम में किया गया था ₹75,000 करोड़ का निवेश का ऐलान
आपको बता दें कि रिलायंस ने पिछले महीने अपने AGM में न्‍यू एनर्जी सेक्टर में 75,000 करोड़ रुपये का निवेश करने की जानकारी दी थी। सालाना बैठक में मुकेश अंबानी ने कहा था कि रिलायंस जामनगर स्थित न्यू एनर्जी मैन्युफैक्चरिंग ईकोसिस्टम में 75,000 करोड़ रुपये का निवेश करने को प्रतिबद्ध है और कंपनी अपना वादा जल्‍द पूरा करना चाहती है। रिलायंस 2025 तक 20 गीगावॉट की सोलर एनर्जी पैदा करने करने की क्षमता हासिल करना चाहती है। बता दें कि ग्रीन एनर्जी पर रिलायंस का फोकस लगातार बढ़ रहा है और इसकी जिम्मेदारी मुकेश अंबानी ने अपने छोटे बेटे अनंत अंबानी को दी है।

 

epaper