DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ा फैसला:मोदी कैबिनेट ने अध्यादेश को दी मंजूरी, लक्जरी कारें होंगी महंगी

GST Cess Hike On Luxury Cars Approved By Cabinet; SUVs To Get Pricier

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मध्यम एवं बड़ी कारों पर उपकर बढ़ाने के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) अधिनियम को संशोधित करने के लिए अध्यादेश लाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इस अध्यादेश में लक्जरी वाहनों पर सेस 15 से बढ़ाकर 25 फीसदी करने का प्रस्ताव है। जीएसटी के क्रियान्वयन के बाद राज्यों को कर संग्रहण में हुए नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए जीएसटी के तहत उपकर का प्रावधान किया गया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा,'सरकारी नीति आम उपभोग की चीजों को महंगा नहीं कर सकती है। लेकिन सरकारी नीतियों का उद्देश्य ऐसा भी नहीं हो सकता है कि लग्जरी सामान सस्ता हो जाए।'

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंत्रिमंडल के निर्णय की जानकारी देते हुए कहा कि इन वाहनों पर उपकर बढ़ाने का निर्णय जीएसटी परिषद लेगी। परिसद की बैठक 9 सितंबर को हैदराबाद में होनी है। उन्होंने यह भी कहा कि चालक समेत 13 लोगों से कम को ढोने की क्षमता वाले वाहनों पर ही बढ़ा हुआ उपकर लागू होगा। जीएसटी परिषद ने जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद वाहनों पर लगने वाले सभी करों की पुरानी व्यवस्था की तुलना में कम हो जाने की बात अगस्त की बैठक में महसूस की थी। जेटली की अध्यक्षता वाली परिषद ने इसके बाद उपकर बढ़ाने का सुझाव दिया था।

बोझ बढ़ेगा
10 फीसदी सेस बढ़ाने का प्रस्ताव किया था जीएसटी परिसद ने
43 फीसदी है वर्तमान में जीएसटी इन वाहनों पर सेस सहित
53 फीसदी जीएसटी हो जाएगा अध्यादेश को मंजूरी मिलने पर
55 फीसदी तक था कर लग्जरी कारों एवं एसयूवी पर जीएसटी से पहले

क्यों बढ़ाया सेस
जीएसटी लागू होने के बाद लक्जरी कारें एवं एसयूवी 12 फीसदी तक सस्ती हो गईं थीं। इसकी वजह से जीएसटी के पूर्व की तुलना में इनपर कर से होने वाली आय घट गई थी। इससे यह संदेश भी जा रहा था कि जीएसटी से आम लोगों की बजाय अमीरों को फायदा हुआ है।

चार मीटर से छोटी कारों पर ज्यादा असर
1,200 सीसी क्षमता वाले पेट्रोल एवं 1,500 सीसी क्षमता वाले चार मीटर से छोटे वाहन जीएसटी से पहले की तुलना में 8.3 फीसदी तक महंगे हो जाएंगे। इनपर जीएसटी से पहले 44.7 फीसदी टैक्स था और जीएसटी में इसे सेस सहित 43 कर दिया गया। सेस में वृद्धि के बाद यह 53 फीसदी हो जाएगा।

बड़ी कारों पर कम असर
चार मीटर से बड़ी कार जिनका पेट्रोल इंजन 1,200 से ज्यादा और डीजल इंजन 1,500 सीसी से अधिक है वह महज 1.4 फीसदी महंगी होंगी। जीएसटी से पहले इनपर 51.6 फीसदी टैक्स था जो 53 फीसदी हो जाएगा।

एसयूवी सस्ती होगी
जीएसटी से पहले स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) पर 55 फीसदी टैक्स था। अब वृद्धि के बाद 53 फीसदी हो जाएगा। इस तरह जीएसटी के पूर्व की तुलना में यह दो फीसदी तक सस्ती रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Modi Cabinet Approves ordinance for GST Cess Hike On Luxury Cars SUVs To Get Pricier