DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी बैंकों से ज्यादा परेशान लोग, 70 फीसदी शिकायत उनके खिलाफ

bank photo livemint

सरकारी व निजी बैंक ग्राहकों को सेवा देने के पैमाने पर खरे नहीं उतर पा रहे हैं। रिजर्व बैंक के नए पोर्टल पर इन बैंकों के खिलाफ 22 दिनों में 35 हजार से ज्यादा शिकायतें मिली हैं। यह आंकड़ा एक दिन में 1590 शिकायतों का है।

सूत्रों ने हिंदुस्तान को बताया है कि इनमें 70 फीसदी सरकारी बैंकों के खिलाफ हैं, जबकि 30 फीसदी निजी बैंकों के खिलाफ। रिजर्व बैंक ने 24 जून को देश में नया कंप्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम यानी सीएमएस लॉन्च किया है। वित्त मंत्रालय की ओर से संसद में बताया गया कि 24 जून से 5 जुलाई के बीच के 11 दिनों के दौरान 10,382 शिकायतें आई हैं। 

अगले 11 दिनों 16 जुलाई के दौरान शिकायतों का आंकड़ा 35 हजार पार कर गई। रिजर्व बैंक ने ग्राहकों को बैंकों और बैंक कर्मचारियों की समस्याओं के हल के लिए सीएमएस नाम से नया पोर्टल और एप लॉन्च किया है। 

यदि बैंक किसी ग्राहक की बात नहीं सुन रहे हैं तो वो व्यक्ति इसके जरिये शिकायत दर्ज करा सकता है। एप पर शिकायतकर्ताओं को उनकी शिकायत प्राप्ति की पुष्टि के साथ स्टेटस बताया जाएगा। शिकायत का समाधान नहीं मिला तो जरूरत पड़ने पर शिकायतकर्ता बैंकिंग लोकपाल के फैसलों के खिलाफ ऑनलाइन अपील भी कर सकेंगे।
बिल गेट्स को पछाड़कर बने दुनिया का दूसरे सबसे अमीर, जानें कौन है ये शख्स

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Maximum complaint are against public sector bank