ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessManappuram Finance Share rallied 10 percent company reported 560 crore rupee profit in September quarter Business News India

रॉकेट से भागे मणप्पुरम फाइनेंस के शेयर, कंपनी को हुआ है 560 करोड़ रुपये का मुनाफा

मणप्पुरम फाइनेंस के शेयर 10% की तेजी के साथ 154.65 रुपये पर जा पहुंचे हैं। कंपनी के शेयरों में यह तेजी शानदार नतीजों की वजह से आई है। कंपनी को सितंबर तिमाही में 560.65 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ है।

रॉकेट से भागे मणप्पुरम फाइनेंस के शेयर, कंपनी को हुआ है 560 करोड़ रुपये का मुनाफा
Vishnuलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 15 Nov 2023 03:45 PM
ऐप पर पढ़ें

नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी मणप्पुरम फाइनेंस के शेयर रॉकेट से भागे हैं। कंपनी के शेयर बुधवार को 10 पर्सेंट की तेजी के साथ 154.65 रुपये पर पहुंच गए हैं। मणप्पुरम फाइनेंस (Manappuram Finance) के शेयर अपने 52 हफ्ते के हाई लेवल 156.55 रुपये के बिल्कुल करीब हैं। कंपनी के शेयरों में यह तेज उछाल सितंबर 2023 तिमाही के शानदार नतीजों की वजह से आया है। जुलाई-सितंबर 2023 तिमाही में मणप्पुरम फाइनेंस का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 560.65 करोड़ रुपये रहा है। 

37% बढ़ा है मणप्पुरम फाइनेंस का मुनाफा
चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में मणप्पुरम फाइनेंस का मुनाफा सालाना आधार पर 37 पर्सेंट बढ़कर 560.65 करोड़ रुपये रहा है। पिछले साल की समान अवधि में कंपनी को 409.5 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ था। तिमाही आधार पर मणप्पुरम फाइनेंस का मुनाफा 12.6 पर्सेंट बढ़ा है। कंपनी को जून 2023 तिमाही में 498.02 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी ने हर शेयर पर 0.85 रुपये के अंतरिम डिविडेंड का भी ऐलान किया है। कंपनी ने अंतरिम डिविडेंड की रिकॉर्ड डेट 24 नवंबर 2023 फिक्स की है।

यह भी पढ़ें- सुजलॉन के शेयरों को इस बड़ी खबर से लगे पंख, 6 महीने में 390% का उछाल

1468 करोड़ रुपये रही नेट इंटरेस्ट इनकम
सितंबर 2023 तिमाही में मणप्पुरम फाइनेंस की नेट इंटरेस्ट इनकम 25 पर्सेंट बढ़कर 1468 करोड़ रुपये रही है। पिछले साल की समान अवधि के दौरान कंपनी की नेट इंटरेस्ट इनकम 1168 करोड़ रुपये थी। जुलाई-सितंबर 2023 तिमाही के दौरान कंपनी का टोटल रेवेन्यू 2174 करोड़ रुपये रहा, जो कि पिछले साल की सितंबर तिमाही में 1714 करोड़ रुपये था। अगर सेगमेंट के आधार पर बात करें तो गोल्ड लोन और दूसरे कैटेगरीज के बिजनेस का कंपनी के टोटल रेवेन्यू में 1537.22 करोड़ रुपये का योगदान रहा। जबकि माइक्रो फाइनेंस कैटेगरीज का योगदान 636.80 करोड़ रुपये रहा है।  

यह भी पढ़ें- सहारा के निवेशकों के 25 हजार करोड़ फंसे, अब आगे क्या होगा, हो रहा मंथन

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें