DA Image
28 जुलाई, 2020|4:32|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन के बाद डिजिटल लेनदेन में बदलाव, बिजली-पानी के बिलों का ऑनलाइन भुगतान 163% बढ़ा

digital payment increased during lockdown  file pic

देशभर में 24 मार्च से हुए लॉकडाउन के बाद लोगों के डिजिटल लेनदेन की आदत में बदलाव देखा गया है। यहां तक कि लॉकडाउन की 101 दिन की अवधि (दो जुलाई तक) में बिजली-पानी के बिलों का भुगतान ऑनलाइन करने में 163 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है।

ऑनलाइन भुगतान मंच रेजरपे ने उसके मंच पर 24 मार्च से दो जुलाई के बीच विभिन्न क्षेत्रों के लिए किए गए डिजिटल लेनदेन का विश्लेषण कर यह रपट तैयार की है। इस रपट में शिक्षा क्षेत्र, चिकित्सा क्षेत्र इत्यादि में भी हुए डिजिटल लेनदेने का आकलन किया गया है।

रपट के मुताबिक समीक्षावधि में बिजली-पानी के बिलों के ऑनलाइन भुगतान में 163 फीसदी का उछाल देखा गया है। इसी दौरान ऑनलाइन पढ़ाई की मांग बढ़ी है। ऑनलाइन शिक्षा के लिए डिजिटल भुगतान में 23 फीसदी बढ़त दर्ज की गई। वहीं चिकित्सकों से ऑनलाइन परामर्श लेने के मामले में भी भुगतान में 20 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई।

रपट के मुताबिक डिजिटल भुगतान के मामलों में राज्यों के हिसाब से कर्नाटक का योगदान 23 प्रतिशत के साथ सबसे अधिक रहा। इसके बाद महाराष्ट्र का 17 प्रतिशत और तेलंगाना का 11 प्रतिशत योगदान रहा। इस दौरान गुजरात, मध्यप्रदेश और तमिलनाडु में डिजिटल लेनदेन में क्रमश: 35, 32 और 2 फीसदी की गिरावट रही।

डिजिटल लेनदेन के विभिन्न तरीकों में से उपयोक्ताओं की सबसे अधिक पसंद यूपीआई रहा। समीक्षावधि में यूपीआई से लेनदेन में 43 प्रतिशत, कार्ड से भुगतान में 40 प्रतिशत और नेटबैंकिंग से भुगतान में 10 प्रतिशत बढ़त दर्ज की गई।

रेजरपे के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सह-संस्थापक हर्षिल माथुर ने कहा, “डिजिटल लेनदेन में उतार-चढ़ाव के बाद लॉकडाउन के 101 दिनों में से अंत के 30 दिनों में 23 प्रतिशत की बढ़त देखी गई है। मेरा मानना है कि छोटे शहरों में डिजिटल भुगतान सुविधा के विकास ने लोगों के बीच कोरोना वायरस संकट के दौरान ऑनलाइन लेनदेन की आदत को बढ़ावा दिया है।"

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lockdown Change Digital transactions Water Electricity Bill Online Payment Increase