ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसLIC IPO: एलआईसी के शेयरों की फ्लॉप लिस्टिंग, पहले ही दिन निवेशकों को नुकसान, इतने पर लिस्ट हुए LIC Share

LIC IPO: एलआईसी के शेयरों की फ्लॉप लिस्टिंग, पहले ही दिन निवेशकों को नुकसान, इतने पर लिस्ट हुए LIC Share

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC के शेयरों ने आज 17 मई को फाइनली शेयर बाजार में डेब्यू कर लिया है। एलआईसी के शेयर आज मंगलवार को बीएसई और एनएसई दोनों इंडेक्स पर लिस्ट हो गए हैं।

LIC IPO: एलआईसी के शेयरों की फ्लॉप लिस्टिंग, पहले ही दिन निवेशकों को नुकसान, इतने पर लिस्ट हुए LIC Share
Varsha Pathakवर्षा पाठक,नई दिल्लीTue, 17 May 2022 10:07 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

LIC IPO Listing Today: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कारपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC IPO) के शेयरों ने आज 17 मई को फाइनली शेयर बाजार में डेब्यू कर लिया है। एलआईसी के शेयर आज मंगलवार को बीएसई (BSE) और एनएसई (NSE) पर लिस्ट हो गए। बीमा कंपनी के शेयरों ने निवेशकों को लिस्टिंग के पहले दिन निराश किया है। कंपनी के शेयर बीएसई पर 81.80 रुपये डिस्काउंट यानी 8.62% गिरावट के साथ 867.20 रुपये प्रति शेयर पर लिस्ट हुए हैं। वहीं, NSE पर एलआईसी के शेयर 77 रुपये डिस्काउंट पर लिस्ट हुए। एनएसई पर कंपनी के शेयर 8.11 पर्सेंट की गिरावट के साथ 872 रुपये पर लिस्ट हुए हैं। 

हालांकि, लिस्टिंग के करीब 10 मिनट बाद 10:02 बजे एलआई के शेयरों में थोड़ी रिकवरी नजर देखी जा रही है। बीएसई पर कंपनी के शेयर 4.36% पर्सेंट की गिरावट के साथ 907.60 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। वहीं, इस समय एनएसई पर एलआईसी के शेयर 4.72% की गिरावट के साथ 904.25 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं।

9 मई को खुला था एलआईसी आईपीओ
आपको बता दें कि LIC का आईपीओ 9 मई को बंद हुआ था और 12 मई को बोली लगाने वालों को इसके शेयर आवंटित किए गए। सरकार ने आईपीओ के जरिये एलआईसी के 22.13 करोड़ से अधिक शेयर यानी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी की पेशकश की है। इसके लिए कीमत का दायरा 902-949 रुपये प्रति शेयर रखा गया था।

यह भी पढ़ें- ऐसा क्या हुआ कि अचानक पेटीएम के शेयर को खरीदने की मच गई हाेड़, कंपनी के शेयरों में आज जबरदस्त तेजी

घरेलू निवेशकों से मिला था शानदार रिस्पाॅन्स
एलआईसी के आईपीओ को करीब तीन गुना सब्सक्रिप्शन मिला था। इसमें घरेलू निवेशकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया, जबकि विदेशी निवेशकों की प्रतिक्रिया ‘ठंडी’ रही। यह देश के इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ है। सरकार ने इस निर्गम के जरिये एलआईसी में अपनी 3.5 फीसदी हिस्सेदारी की बिक्री करने का फैसला किया है। इस हिस्सेदारी की बिक्री से सरकार को करीब 20,557 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद थी।

यह भी पढ़ें- 12 रुपये से बढ़कर 125 रुपये के पार पहुंचा टाटा ग्रुप का यह शेयर, निवेशकों के 1 लाख बन गए 9.78 लाख रुपये

अब तक सबसे बड़ा आईपीओ
इस राशि के साथ एलआईसी का निर्गम देश का अबतक का सबसे बड़ा आईपीओ साबित हुआ है। इसके पहले वर्ष 2021 में आया पेटीएम का आईपीओ 18,300 करोड़ रुपये का था। उससे पहले वर्ष 2010 में कोल इंडिया का आईपीओ करीब 15,500 करोड़ रुपये का था।

epaper