DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानिए आरबीआई की नई मौद्रिक नीति की कुछ खास बातें

reserve bank of india

बुधवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने रेपो रेट में कमी का ऐलान कर दिया। इसके अलावा बैंक की ओर से रिवर्स रेपो रेट को भी 0.25 फीसदी घटकर 5.75 फीसदी कर दिया गया है। आपको बता दें कि इससे पहले यह दर छह फीसदी थी। सीआरआर में भी आरबीआई ने चार फीसदी की कटौती की है। आरबीआई ने अक्टूबर 2016 में इसमें कटौती की थी। वर्तमान समय में जो छह प्रतिशत की दर है वह नवंबर 2010 के बाद से सबसे कम है। एक नजर डालिए आरबीआई की बुधवार को घोषित मौद्रिक नीति की कुछ खास बातें। 

  • प्रमुख नीतिगत दर रेपो रेट 0.25 प्रतिशत टाकर छह प्रतिशत की गयी।
  • रिवर्स रेपो दर 0.25 प्रतिशत टाकर 5.75 प्रतिशत की गयी।
  • खुदरा मुद्रास्फीति को सतत आधार पर चार प्रतिशत पर रखने पर जोर।  
  • मुद्रास्फीति को लेकर कुछ जोखिम कम हुए हैं। 
  • चालू वित्त वर्ष के लिये आर्थिक वद्धि के अनुमान को 7.3 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया।
  • निजी निवेश में नई जान डालने, बुनियादी ढांचा की बाधाओं को दूर करने और प्रधानमंत्री आवास योजना पर विशेष जोर देने की जरूरत।
  • विदेशी मुद्रा भंडार 28 जुलाई को 3929 अरब डालर पहुंचा। 
  • मौद्रिक नीति समिति के चार सदस्यों ने 0.25 प्रतिशत कटौती के के पक्ष में मतदान किया।
  • राज्यों द्वारा कषि ऋण माफी से राजकोषीय लक्ष्य बिगड़ने और सार्वजनिक व्यय की गुणवत्ता टने का जोखिम।
  • सरकार, रिजर्व बैंक वसूली में फंसे बड़े कजोर्ं की समस्या के समाधान के लिये मिलकर काम कर रहे हैं।
  • बैंकों और कंपनियों की बैलेंस शीट की कमजोरी से नये निवेश के प्रभावित होने की आशंका।
  • एमपीसी की अगली बैठक आगामी तीन—चार अक्टूबर को।

आरबीआई ने कम किया रेपो रेट, जानिए आपको क्या होगा फायदा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Key highlights of RBI Monetary Policy