DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत में स्टार्टअप के साथ व्हाट्सएप की साझेदारी

whatsapp

मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने मंगलवार को कहा कि उसका ध्यान भारत में स्टार्टअप कंपनियों के साथ संपर्क को व्यापक बनाने पर है ताकि वे प्रौद्योगिकी मंच का इस्तेमाल कर पाएं और विभिन्न मुद्दों के समाधान के लिए परिचालन के स्तर को ऊपर उठा सकें।

व्हाट्सएप इंडिया के प्रमुख अभिजीत बोस ने कहा, प्रौद्योगिकी कंपनी के तौर पर हम स्टार्टअप व्यवस्था के लिए काफी महत्वपूर्ण साझीदार हो सकते हैं। हम स्टार्टअप एवं प्रौद्योगिकी तंत्र के साथ अपने संपर्क को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी भारत में स्टार्टअप समुदाय के साथ संपर्क के लिए विभिन्न उपायों पर विचार कर रही है।

डेटा स्थानीयकरण नियमों पर कंपनियों के चिंताओं की जांच करेगा रिजर्व बैंक: सरकार
वहीं दूसरी ओर, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) आंकड़ों को स्थानीय स्तर पर संग्रहीत करने (डेटा स्थानीयकरण) को लेकर दिए दिशानिर्देशों पर कंपनियों की चिंताओं की जांच-पड़ताल करेगा। इन नियमों के तहत कंपनियों को अपने ग्राहकों से जुड़ी जानकारी और आंकड़े विशेष तौर पर भारत में ही रखने होते हैं। सरकार ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

आरबीआई ने पिछले साल अप्रैल में भुगतान कंपनियों को ग्राहकों के आंकड़ों को स्थानीय सर्वर में रखने के लिए कहा था और इसके लिए छह महीने का समय दिया गया था। हालांकि, दिग्गज क्रेडिट कार्ड कंपनी वीजा और मास्टरकार्ड जैसी कुछ कंपनियां निर्धारित समयसीमा के भीतर काम पूरा नहीं कर सकी है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बयान में कहा कि वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने ई-कॉमर्स एवं प्रौद्योगिकी उद्योग के प्रतिनिधियों के साथ सोमवार को इस मुद्दे पर विचार-विमर्श किया। बैठक में मौजूद कंपनियों ने रिजर्व बैंक की ओर से जारी डेटा भंडारण जरूरतों और प्रसंस्करण से जुड़े दिशानिर्देशों को लेकर अपनी चिंताएं जताई हैं। रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर बी पी कानूनगो ने उद्योग प्रतिनिधियों को इन मुद्दों पर गौर करने का भरोसा दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Keen on deepening engagement with startup ecosystem in India Says WhatsApp