DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने कहा- कंपनी को टुकड़े-टुकड़े करके न करें खत्म

Jet Airways Flight

निजी क्षेत्र की फिलहाल बंद हो चुकी विमानन कंपनी जेट एयरवेज के कर्मचारियों के संगठन ने कहा कि वह एयरलाइन को कभी नीचे नहीं जाने देंगे और ना ही कंपनी को टुकड़े-टुकड़े करके खत्म करने की अनौपचारिक बातचीत को सहन करेंगे। 

ऑल इंडिया जेट एयरवेज टेक्नीशियंस एसोसिएशन (एआईजेऐटीए) ने एक खुले पत्र में यह बात कही। करीब 800 लोग इस कर्मचारी संघ के सदस्य हैं। एआईजेऐटीए का यह पत्र नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा के एक बयान के बाद आया है। सिन्हा ने कहा कि जेट एयरवेज के क्षमतावान कर्मचारियों को अन्य एयरलाइन में नौकरी दी जा सकती है। एआईजेऐटीए के अनुसार जिन कर्मचारियों ने नौकरी छोड़ी है, उन्होंने वित्तीय हालात और अन्य प्रतिबद्धताओं के चलते ऐसा किया है। पत्र में लिखा गया है, हम इस कंपनी को नीचे नहीं आने देंगे और ना ही इसे टुकड़े-टुकड़े करके खत्म करने और किसी दूसरी विमानन कंपनी को सौंप देने की बातचीत को सहन करेंगे। 

जेट एयरवेज स्टाफ ने वेतन भुगतान के लिए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लगाई गुहार

जेट एयरवेज के संकट के बीच एयर इंडिया की एक यूनियन ने कहा है कि निजीकरण देश की इस सरकारी एयरलाइन की समस्या का कोई हल नहीं हो सकता। उनका कहना है कि जेट एयरवेज और किंगफिशर के हालात से उनकी यह बात साबित हुई है। एअर कॉरपोरेशन एंप्लॉयी यूनियन (एसीईयू) के वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को सरकार को भी सुझाव दिया कि वह एअर इंडिया के निजीकरण की योजना पर दोबारा विचार करें। जेट एयरवेज के 20,000 कर्मचारियों का समर्थन करते हुए अधिकारी ने कहा कि सरकार की मौजूदा नीतियों को फिर से देखने की जरूरत है क्योंकि इससे विमानन उद्योग में संकट का दौर ही आया है और हजारों लोगों की नौकरी दांव पर आ गई। इससे पहले भारी कर्ज के चलते 2012 में निजी क्षेत्र की किंगफिशर बंद हो गई थी।

आनंद शर्मा ने जताया अंदेशा, जेट एयरवेज का ठप होना कहीं कोई घोटाला तो नहीं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jet airways will not fall down said Jet airways employees