DA Image
4 मार्च, 2021|2:48|IST

अगली स्टोरी

बिना आधार और पैन के भी खुलवा सकते हैं जनधन खाता, 41 करोड़ से अधिक लोग उठा रहे हैं फायदा

jan dhan

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) के तहत अब तक 41 करोड़ से अधिक लोगों के पास जनधन खाता है।  इस योजना के तहत छह जनवरी 2021 तक जनधन खातों की कुल संख्या 41.6 करोड़ हो गई यह जानकारी वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके दी है। वहीं शून्य बैलेंस वाले खातों की संख्या मार्च 2015 के 58 फीसद से कम होकर 7.5 फीसद पर आ गई।' अभी तक 41.65 करोड़ लाभार्थियों ने बैंको में धनराशि जमा की है। लाभार्थियों के खाते में ₹137,195.93 करोड़ रुपये की धनराशि जमा है

जनधन खाता एक, फायदे अनेक

वैसे जनधन खाते के बहुत सारे फायदे हैं। जैसे कि  डिपॉजिट पर ब्याज के साथ खाते पर फ्री मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी दी जाती है। जनधन से आप ओवरड्रॉफ्ट के जरिए अपने अतिरिक्त 10,000 रुपए तक निकाल सकते हैं। वहीं  2 लाख रुपए तक दुर्घटना बीमा कवर मिलता है। 30,000 रुपए तक का लाइफ कवर, जो लाभार्थी की मृत्यु पर योग्यता शर्तें पूरी होने पर मिलता है। जन धन खाताधारक को रुपे डेबिट कार्ड दिया जाता है। इस खाते के जरिए बीमा, पेंशन प्रोडक्ट्स खरीदना आसान है। जनधन खाता है तो पीएम किसान और श्रमयोगी मानधन जैसी योजनाओं में पेंशन के लिए खाता खुल जाएगा। वहीं सरकारी योजनाओं के फायदों का सीधा पैसा खाते में आता है।
 
बिना पैन और आधार के खाता खुलवाने का तरीका

रिजर्व बैंक आफ इंडिया की गाइडलाइंस के मुताबिक अगर किसी नागरिक के पास पैन, आधार, वोटर कार्ड सहित कोई भी आधिकारिक डॉक्यूमेंट नहीं हैं तब भी वह जनधन खाता खोल सकता है। अकाउंट खुलवाने के लिए उसे सबसे पहले पास के बैंक के ब्रांच पर जाना होगा। बैंक अधिकारी की उपस्थिति में अपना एक सेल्फ अटेस्टेड यानी स्वहस्ताक्षरित फोटोग्रॉफ देना होगा। इस फोटो पर उसका हस्ताक्षर या अंगूठा लगा होना चाहिए। इसके बाद बैंक अधिकारी उसका अकाउंट खोल देता है। इसके बाद खाता जारी रखने के लिए खाता खोलने की डेट से 12 महीने पूरे होने तक कोई भी वैलिड डॉक्यूमेंट बनवाकर बैंक में जमा करना होता है, जिसके बाद यह खाता आगे जारी रहता है।

ये हैं वैलिड डॉक्यूमेंट्स

वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, पैन कार्ड, आधार कार्ड, NREGA द्वारा इश्यू जॉब कार्ड, सरकार की किसी अथॉरिटी से मिला लेटर, जिसमें नाम और पता लिखा हो
सेंट्रल गवर्नमेंट से जारी हुआ कोई डॉक्यूमेंट, गैजेट अधिकारी द्वारा जारी लेटर।

यह भी पढ़ें: एलपीजी पर सब्सिडी पाने के लिए क्या आधार है जरूरी

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में जनधन योजना शुरू करने की घोषणा की थी। 28 अगस्त 2014 को इस योजना को शुरू किया गया और सरकार ने 2018 में अधिक सुविधाओं व लाभों के साथ इस योजना का दूसरा संस्करण शुरू किया। मोदी सरकार ने योजना के दूसरे संस्करण में प्रत्येक परिवार के स्थान पर हर उस व्यक्ति को लक्ष्य बनाने का निर्णय लिया, जो अभी तक बैंकिंग सुविधा से वंचित थे। इसके अलावा 28 अगस्त 2018 के बाद खुले जनधन खातों पर रुपे कार्ड के धारकों के लिये नि:शुल्क दुर्घटना बीमा का कवर दोगुना यानी दो लाख रुपये कर दिया गया। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jan Dhan account can be opened without Aadhaar and PAN more than 41 crore people are taking advantage