ITR Form Verification More Important Than Income Tax Return File - इन 5 तरीकों से कर सकते हैं ITR सत्यापित, जानें तरीका DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन 5 तरीकों से कर सकते हैं ITR सत्यापित, जानें तरीका

ITR

वित्त वर्ष 2108-19 के लिए आयकर रिटर्न भरने की आखिरी तारीक नजदीक आ गई है। आयकर विभाग ने इस बार रिटर्न भरने की आखिरी 31 जुलाई तय की है। ऐसे में अगर आप रिटर्न भरने की तैयारी कर रहे हैं तो अपने फॉर्म को सत्यापित करना न भूलें। अगर आपने रिटर्न भरने के 120 दिनों के अंदर फॉर्म को सत्यापित नहीं किया तो आयकर नियमों के मुताबिक वह वैध नहीं माना जाता है। वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि अगर कोई करदाता रिटर्न दाखिल करने के 120 दिनों के अंदर उसे सत्यापित नहीं करता है तो विभाग मानता है कि उसने रिटर्न भरा ही नहीं है। इस स्थिति में आयकर विभाग करदाता को नोटिस भेज सकता है।

इन पांच तरीकों से कर सकते हैं सत्यापित 
1. आधार ओटीपी के जरिए: आप रिटर्न भरने के बाद आधार ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) के जरिए उसे सत्यापित कर सकते हैं। हालांकि, इसके लिए जरूरी है कि आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा हो। एक बार रिटर्न को सत्यापित करने के लिए इस तरीके को चुनने के बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इसको आयकर विभाग की वेबसाइट पर डालने के बाद आपका रिटर्न सत्यापित हो जाएगा। 

2. नेटबैंकिंग के जरिए: अगर आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो नेटबैंकिंग के जरिए भी रिटर्न को सत्यापित कर सकते हैं। नेटबैंकिंग के जरिए रिटर्न को सत्यापित करने के लिए बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा। इसके बाद टैक्स टैब में ई-वेरीफाई का विकल्प मिलेगा। इस पर क्लिक करते ही आयकर विभाग की वेबसाइट खुलेगी। यहां आपको जेनरेट ईवीसी का विकल्प मिलेगा। इस पर क्लिक करते ही ईमेल और मोबाइल फोन पर 10 अंक का एक कोड आएगा। इसके जरिए रिटर्न सत्यापित हो जाएगा। 

3. डीमैट खाता के जरिए: अगर आप शेयर बाजार निवेश करते हैं और आपके पास डीमैट खाता है तो इसके जरिए भी रिटर्न को सत्यापित कर सकते हैं। आप डीमैट खाता में लॉग इन कर अपने मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि डालें। इसके बाद आधार को सत्यापित कर सकते हैं। इस प्रक्रिया में आमतौर पर एक-दो घंटे लगते हैं। 

4. बैंक एटीएम के जरिए: आयकर विभाग  इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (ईवीसी) जनरेट करने का विकल्प एटीएम के जरिए भी देता है। इसके लिए एटीएम में कार्ड और पिन डालने के बाद ई-फाइलिंग का एक विकल्प दिखेगा। इस पर क्लिक करने के बाद यह ईवीसी कोड आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दिया जाएगा।  इस कोड के जरिए आयकर विभाग की वेबसाइट से अपने रिटर्न को सत्यापित कर सकते हैं। 

5. फॉर्म को बेंगलुरु भेजकर: आप रिटर्न भरने के 120 दिनों के भीतर बेंगलुरु में आईटी विभाग के मुख्यालय में प्रिंट व हस्ताक्षरित रिटर्न फॉर्म को भेजना होगा। आयकर विभाग फॉर्म को प्राप्त करने की पुष्टि करेगा। इस तरह भी आपका रिटर्न फॉर्म सत्यापित हो जाएगा। 

सत्यापन के बाद ही प्रोसेसिंग
आपके द्वारा अपने फॉर्म को सत्यापित करने के बाद ही आयकर विभाग आपके आईटीआर को प्रोसेस करता है। यानी आगे की प्रक्रिया शुरू करता है। अगर आपका टीडीएस कटा है तो प्रोसेस होने के बाद भी आयकर विभाग उसे रिफंड करता है। 

रिजर्व बैंक ने आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक के बारे में नहीं दी कोई राय

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ITR Form Verification More Important Than Income Tax Return File