ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसबोनस शेयर मिलने के बाद 1 लाख का निवेश बढ़कर 1 करोड़ हो गया, ₹14 का शेयर ₹331 का हुआ

बोनस शेयर मिलने के बाद 1 लाख का निवेश बढ़कर 1 करोड़ हो गया, ₹14 का शेयर ₹331 का हुआ

आईटीसी शेयर की कीमत (ITC share price) लगभग ₹14.50 से बढ़कर ₹331.50 प्रति स्तर हो गई है। यानी इस दौरान यह शेयर लगभग 23 गुना बढ़ा है।

बोनस शेयर मिलने के बाद 1 लाख का निवेश बढ़कर 1 करोड़ हो गया, ₹14 का शेयर ₹331 का हुआ
Varsha Pathakमिंट,नई दिल्लीSun, 18 Sep 2022 11:29 AM
ऐप पर पढ़ें

ITC bonus shares: हमेशा से देखा गया है कि शेयर बाजार में लंबी अवधि में निवेशकों को तगड़ा मुनाफा हुआ है। एक सफल शेयर बाजार निवेशक अक्सर अपने फॉलोअर्स को एक स्टॉक को यथासंभव लंबे समय तक रखने की सलाह देता है। इस सलाह के पीछे मूल उद्देश्य जोखिम को कम करना और अधिक से अधिक इनकम  कराना है। साथ ही  कुछ अन्य इनकम सोर्स भी बनते जाती है जो एक लंबी अवधि के इक्विटी निवेशक को जबरदस्त मुनाफा करा जाता है। इसका ताजा उदाहरण आईटीसी का शेयर (ITC Stock) है। ITC के शेयरों ने अपने लंबी अवधि के निवेशकों को करोड़पति बनाने का काम किया है।

आपको बता दें कि इसमें स्टॉक प्राइस बढ़ने के अलावा लंबी अवधि के निवेशक को शेयर बायबैक, बोनस शेयर, डिविडेंड आदि का लाभ शामलि हैं, जो एक सूचीबद्ध कंपनी समय-समय पर घोषित करती रहती है। आइए जानते हैं डिटेल्स में...

तीन बार बोनस शेयर हुए जारी
पिछले दो दशकों में स्टॉक ने तीन बार बोनस शेयर दिए हैं। इन दो दशकों के समय में आईटीसी शेयर की कीमत (ITC share price) लगभग ₹14.50 से बढ़कर ₹331.50 प्रति स्तर हो गई है। यानी इस दौरान यह शेयर लगभग 23 गुना बढ़ा है। हालांकि, अगर हम पिछले 20 सालों में कंपनी द्वारा जारी किए गए तीन बोनस शेयरों को  देखें, तो आईटीसी शेयर की कीमत लगभग 102 गुना अधिक बढ़ गई है। तो, एफएमसीजी कंपनी (FMCG Stock) द्वारा जारी किए गए इन तीन बोनस शेयरों ने लंबी  अवधि के  निवेशकों को  4 गुना से अधिक रिटर्न दिया है।

यह भी पढ़ें- 21 दिन में 160% का रिटर्न: ₹10 के इस शेयर ने किया कमाल, 9 महीने में 1 लाख का निवेश बना ₹14.26 लाख

आईटीसी बोनस शेयर डिटेल
बीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, आईटीसी ने पिछले 20  सालों  में अलग-अलग तीन मौकों पर बोनस शेयरों की घोषणा की है। इसने सितंबर 2005 में 1:2 के रेशियो में बोनस शेयर दिए हैं। यानी कि एक निवेशक को कंपनी के दो शेयर रखने पर  एक  बोनस शेयर दिया गया था। अगस्त 2010 में आईटीसी ने फिर से 1:1 के रेशियो में बोनस शेयर दिए। यानी एक शेयर पर एक बोनस शेयर दिया गया था। बाद में जुलाई 2016 में आईटीसी ने 1:2 के अनुपात में बोनस शेयरों की घोषणा की। यानि फिर से दो शेयर पर एक बोनस शेयर दिया गया।

शेयरधारकों पर बोनस शेयरों का प्रभाव
अगर किसी निवेशक ने लगभग 20 साल पहले जून के महीने में आईटीसी शेयरों में ₹1 लाख का निवेश किया होता तो उसे लगभग ₹14.50 प्रति शेयर पर एक आईटीसी शेयर मिलता। इसलिए, जून 2002 में आईटीसी शेयरों में ₹1 लाख का निवेश करके, किसी को 6,896 आईटीसी शेयर मिले होंगे। सितंबर 2005 में 1:2 बोनस शेयर जारी होने के बाद, शेयरधारक के आईटीसी शेयरों की कुल संख्या 10,344 (6,896 x 1.5) हो गई होती। इसी तरह, अगस्त 2010 में 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर जारी करने के बाद ये 10,344 आईटीसी शेयर बढ़कर 20,688 हो गए होंगे। जब एफएमसीजी कंपनी ने जुलाई 2016 में 1:2 बोनस शेयरों की घोषणा की, तो ये 20,688 आईटीसी शेयर बढ़कर 31,032 शेयर हो गए होंगे। इसलिए, आईटीसी में एक निवेशक की हिस्सेदारी 6,896 से बढ़कर 31,032 हो गई होती। 

यह भी पढ़ें- 65 पैसे से 37 रुपये का हुआ यह शेयर, ₹1 लाख का निवेश बना ₹58.30 लाख, विदेशी निवेशकों का है फेवरेट स्टॉक

₹1 लाख ₹1.03 करोड़ में बदल जाता है
शुक्रवार के सत्र में, NSE पर ITC के शेयर की कीमत ₹331.50 के स्तर पर बंद हुई। इसलिए, जून 2022 में आईटीसी में ₹1 लाख का निवेश करने वाले निवेशक की आईटीसी शेयरधारिता की कुल संपत्ति ₹1.03 करोड़ (₹331.50 x 31,032) हो गई होती। यदि कंपनी ने इस अवधि में किसी भी बोनस शेयर की घोषणा नहीं की थी, तो एक निवेशक ₹1 लाख ₹23 लाख में बदल गया होगा क्योंकि पिछले बीस वर्षों (331.50/14.5) में स्टॉक लगभग 23 गुना बढ़ गया था। इसलिए, बोनस देने वाले शेयरों में लंबी अवधि में एक करोड़पति को अरबपति बनाने की क्षमता होती है।

epaper