Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसFD नहीं, IPO पर बढ़ा भरोसा! दिवाली बाद डिपॉजिट में 24 साल की सबसे बड़ी गिरावट

FD नहीं, IPO पर बढ़ा भरोसा! दिवाली बाद डिपॉजिट में 24 साल की सबसे बड़ी गिरावट

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीDeepak Kumar
Sat, 04 Dec 2021 04:09 PM
FD नहीं, IPO पर बढ़ा भरोसा! दिवाली बाद डिपॉजिट में 24 साल की सबसे बड़ी गिरावट

इस खबर को सुनें

आमतौर पर फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी को एक सुरक्षित और फायदे का निवेश माना जाता रहा है। हालांकि, बीते कुछ साल में ब्याज दर कम मिलने की वजह से एफडी को लेकर आकर्षण कुछ कम हुआ है। वहीं, निवेशक अब एफडी के विकल्प के तौर पर IPO को देख रहे हैं। भारतीय स्टेट बैंक की एक शोध रिपोर्ट भी इस बात की पुष्टि करती दिख रही है।

क्या है एसबीआई की रिपोर्ट में: रिपोर्ट के मुताबिक दिवाली के बाद बैंकों की जमा राशि यानी डिपॉजिट में 2.7 लाख करोड़ रुपये की बड़ी गिरावट आई है। एसबीआई रिसर्च की रिपोर्ट में कहा गया है कि 5-19 नवंबर के बीच जमा राशि में इतनी बड़ी गिरावट, 1997 के बाद का सबसे बड़ा आंकड़ा है। कहने का मतलब ये है कि इस पखवाड़े में 24 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है।

5-19 नवंबर की वो अवधि थी, जिस दौरान पेटीएम, लेटेंट व्यू, टार्सन, सफायर और सिगाची जैसी कंपनियों के आईपीओ लॉन्च हुए थे। पेटीएम के आईपीओ ने निवेशकों को बड़ा झटका दिया। हालांकि, लेटेंट व्यू और सिगाची समेत अधिकतर आईपीओ ने निवेशकों को मालामाल भी किया।

दिवाली से पहले डिपॉजिट भी जबरदस्त:  हालांकि,  दशहरा के बाद और दिवाली से पहले डिपॉजिट के आंकड़ों ने भी चौंकाए हैं। 5 नवंबर 2021 को खत्म हुए पखवाड़े में बैंकों में जमा राशि में 3.3 लाख करोड़ रुपये की भारी वृद्धि हुई थी। 3.3 लाख करोड़ रुपये की वृद्धि पिछले पिछले 24 वर्षों में पांचवीं सबसे बड़ी पाक्षिक वृद्धि थी। आपको बता दें कि 25 नवंबर, 2016 को खत्म हुए पखवाड़े में नोटबंदी के बाद 4.16 लाख करोड़ रुपये जमा किए गए थे।

इसके अलावा 26 सितंबर, 2016 को खत्म हुए पखवाड़े में 3.55 लाख करोड़ रुपये, 29 मार्च 2019 को खत्म हुए पखवाड़े में 3.46 लाख करोड़ रुपये की वृद्धि हुई थी जबकि एक अप्रैल, 2016 को खत्म हुए पखवाड़े में 3.41 लाख करोड़ रुपये डाले गए थे।

epaper

संबंधित खबरें