ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसIPO पर दांव लगाने को तैयार रखिए पैसे, 100 से ज्यादा कंपनियां हैं रेस में

IPO पर दांव लगाने को तैयार रखिए पैसे, 100 से ज्यादा कंपनियां हैं रेस में

सेबी की तरफ से 71 आईपीओ प्रस्तावों को मंजूरी मिल चुकी है जिनके जरिये 1,05,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इनके अलावा 70,000 करोड़ रुपये मूल्य के 43 अन्य प्रस्ताव अभी सेबी के विचाराधीन हैं।

IPO पर दांव लगाने को तैयार रखिए पैसे, 100 से ज्यादा कंपनियां हैं रेस में
Deepak Kumarएजेंसी,नई दिल्लीThu, 29 Sep 2022 06:44 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

वित्त वर्ष 2022-23 की पहली छमाही IPO के लिहाज से ज्यादा अच्छी नहीं रही है। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 14 कंपनियों की तरफ से लाए गए IPO से 35,456 करोड़ रुपये जुटाए गए हैं, जो एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 32 प्रतिशत कम है। हालांकि, अब दूसरी छमाही में आईपीओ की बौछार आने वाली है। ऐसे में आईपीओ के जरिए कमाई करने वाले निवेशकों के लिए एक मौका बन सकता है।

71 आईपीओ को मंजूरी: रिपोर्ट के मुताबिक, बाजार नियामक सेबी की तरफ से 71 आईपीओ प्रस्तावों को मंजूरी मिल चुकी है जिनके जरिये 1,05,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इनके अलावा 70,000 करोड़ रुपये मूल्य के 43 अन्य प्रस्ताव अभी सेबी के विचाराधीन हैं। इस तरह कुल 114 आईपीओ लाने की तैयारियां चल रही हैं जिनमें से 10 आईपीओ नए दौर की टेक कंपनियों के हैं। इन टेक कंपनियों ने करीब 35,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा हुआ है।

पहली छमाही का हाल: इस दौरान कुल 14 कंपनियां अपना IPO लेकर आईं जिनके जरिये 35,456 करोड़ रुपये की राशि जुटाई गई। एक साल पहले की समान अवधि में कुल 25 IPO के माध्यम से 51,979 करोड़ रुपये जुटाए गए थे। इस सुस्ती के बावजूद चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में IPO गतिविधियों में तेजी आने की संभावना है। 

एलआईसी ने कितने जुटाए: इसे भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आईपीओ ने संभाल लिया जिसमें अकेले ही 20,557 करोड़ रुपये जुटाए गए थे। देश में अबतक के सबसे बड़े आईपीओ एलआईसी की अप्रैल-सितंबर 2022 की छमाही में आईपीओ से जुटाई गई कुल राशि में हिस्सेदारी 58 प्रतिशत रही।

प्राइम डेटाबेस समूह के एमडी प्रणव हल्दिया ने एक नोट में कहा कि पहली छमाही में सार्वजनिक इक्विटी से जुटाई गई कुल राशि सिर्फ 41,919 करोड़ रुपये रही है जो एक साल पहले की समान अवधि के 92,191 करोड़ रुपये की तुलना में 55 प्रतिशत कम है।

ये पढ़ें-Voda-Idea पर आया नया संकट, डर के माहौल में शेयर से पिंड छुड़ा रहे निवेशक

अप्रैल-सितंबर 2022 के दौरान एलआईसी के अलावा डेल्हीवरी और रेनबो चिल्ड्रंस के आईपीओ को भी निवेशकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली। डेल्हीवरी के IPO से 5,235 करोड़ रुपये और रेनबो चिल्ड्रंस के IPO से 1,581 करोड़ रुपये जुटाए गए थे।

epaper