ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेस5 दिन में 19 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा 'स्वाहा', बाजार का बिगड़ा मिजाज

5 दिन में 19 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा 'स्वाहा', बाजार का बिगड़ा मिजाज

शेयर बाजार में गिरावट जारी है। हफ्ते के पहले दिन ही इनवेस्टर्स को तगड़ा झटका लगा है। और गिरावट आएगी या इस लेवल से रिकवरी शुरू होगी, निवेशक ऐसे सवालों के जवाब तलाश रहे हैं। पिछले 5 सेशंस में बीएसई...

5 दिन में 19 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा 'स्वाहा', बाजार का बिगड़ा मिजाज
Vishnuलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jan 2022 09:18 PM

इस खबर को सुनें

शेयर बाजार में गिरावट जारी है। हफ्ते के पहले दिन ही इनवेस्टर्स को तगड़ा झटका लगा है। और गिरावट आएगी या इस लेवल से रिकवरी शुरू होगी, निवेशक ऐसे सवालों के जवाब तलाश रहे हैं। पिछले 5 सेशंस में बीएसई सेंसेक्स करीब 3,820 प्वाइंट गिर चुका है। इन 5 दिनों में निवेशकों को 19.33 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। अकेले सोमवार को इनवेस्टर्स को 9.15 लाख करोड़ रुपये का झटका लगा है। यह बात इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में कही गई है। अमेरिकी टेक स्टॉक्स में भारी बिकवाली के बाद इंडियन मार्केट में भी टेक शेयरों की पिटाई हुई। बीएसई लिस्टेड कंपनियों की कंबाइंड मार्केट वैल्यू घटकर 260.50 लाख करोड़ रुपये पहुंच गई है। 

शेयर बाजार में गिरावट की हैं कई वजह
शेयर बाजार में सोमवार को 3,000 से ज्यादा शेयरों में गिरावट आई। साथ ही, 800 से ज्यादा कंपनियों के शेयरों में लोअर सर्किट लगा। इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सोमवार को मार्केट डेटा पर सरसरी निगाह डालने से पता लगता है कि हर 6 में से 5 स्टॉक में गिरावट आई। साथ ही, हर 4 स्टॉक में से एक में लोअर सर्किट लगा। एनालिस्ट्स का कहना है कि रूस-यूक्रेन बॉर्डर पर बढ़ते तनाव, उम्मीद से पहले ही मौद्रिक सख्ती की संभावना और इनफ्लेशन के कारण बाजार में दबाव देखने को मिला है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स (FPI) का इस गिरावट में बड़ा हाथ है। एफपीआई मार्केट से लगातार पैसा निकाल रहे हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, मार्केट में कमजोरी अभी बनी रह सकती है, क्योंकि रियल एस्टेट, निफ्टी स्मॉलकैप, मिडकैप जैसे इंडेक्स में ब्रेकडाउन साफ दिख रहा है।

यह भी पढ़ें- 55 पैसा का शेयर आज ₹11.34 पर पहुंचा, निवेशकों के 1 लाख को बना दिया ₹20.25 लाख

पिछले हफ्ते के 3 ट्रेडिंग सेशंस में 11,000 करोड़ रुपये के शेयर बेचे
GCL सिक्योरिटीज के वाइस चेयरमैन रवि सिंघल के मुताबिक, 'मार्केट में यह कमजोरी फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स (FPI) और फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (FII) के इंडियन मार्केट से पैसा निकालने के कारण आई है। अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले हफ्ते 3 ट्रेडिंग सेशंस में FII ने 11,000 करोड़ रुपये कीमत के शेयर बेचे हैं।' उनका मानना है कि इंडियन स्टॉक मार्केट में यह कमजोरी 1-2 सेशंस के लिए जारी रह सकती है, क्योंकि बड़ी संख्या में क्वॉलिटी स्टॉक्स ने चार्ट पैटर्न पर ब्रेकडाउन दिया है। साथ ही, बहुत कुछ बजट 2022 पर निर्भर करेगा।

यह भी पढ़ें- Zomato और Nykaa के शेयर 20% तक लुढ़के, पेटीएम ने छुआ 900 रुपये के नीचे का लेवल

निफ्टी को 17,000 से 17,100 के लेवल पर मजबूत सपोर्ट
एक्सिस सिक्योरिटीज के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ बी गोपकुमार का कहना है, 'नए कोविड वेरिएंट्स और उससे जुड़ी अनिश्चितताओं ने मार्केट्स और दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं को दबाव में रखा है। हमारा मानना है कि बजट कुछ कॉन्फिडेंस और बाजार के मौजूदा उतार-चढ़ाव में स्थिरता ला सकता है।' च्वॉइस ब्रोकिंग के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर सुमित बागड़िया इंडियन स्टॉक मार्केट में तेज रिकवरी की उम्मीद कर रहे हैं। उनका कहना है कि निफ्टी को 17,000 से 17,100 के लेवल पर मजबूत सपोर्ट है और एक बार अगर निफ्टी क्लोजिंग बेसिस पर 17,500 पर ब्रेकआउट देता है तो हम 17,800 से 18,000 के लेवल की उम्मीद कर सकते हैं। उनका कहना है कि इसी तरह बैंक निफ्टी को 36,500 से 36,700 के लेवल पर मजबूत सपोर्ट है।

epaper