DA Image
9 सितम्बर, 2020|10:43|IST

अगली स्टोरी

सोने-चांदी में निवेश अब नहीं है फायदे का सौदा?

                       5                                                                             5                     10243

कोरोना काल में लगातार तेजी दिखाने के बाद सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट आई है।  बुधवार को एमसीएक्स पर सोना खुलते ही 1500 रुपये टूटकर 50,441 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। चांदी भी 5000 रुपये टूटकर 61972 रुपये प्रति किलो पर आ गया। बीते दो दिनों में ही सोना 4500 रुपये और चांदी 9000 रुपये सस्ती हो गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि रूस द्वारा कोरोना वैक्सीन लाने की खबर से शेयर बाजार में विश्वास बढ़ा है। इससे सोने-चांदी में मुनाफावसूली हुई है जिससे कीमतें तेजी से नीचे आई हैं। 

अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी फीकी पड़ी चमक
अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने के कीमतों में गिरावट जारी है। हाजिर सोना की कीमतों में 2.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और इसकी कीमत 1,863.67 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई। वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी वायदा सोने की कीमत 2.8%  गिरकर 1,892 डॉलर प्रति औंस रह गई है। चांदी की कीमत में भी 3.3 फीसदी की तेज गिरावट दर्ज की गई है। चांदी का भाव 23.96  डॉलर प्रति औंस रहा। विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में वैश्विक बाजार में सोना एक बार फिर से 1700 डॉलर प्रति औंस के स्तर को छू सकता है। 

इस वजह से आई गिरावट
विशेषज्ञों का कहना है कि सोने की कीमत में बड़ी गिरावट की वजह है रूस द्वारा कोरोना वैक्सीन लाने की घोषणा करना। इसके साथ ही डॉलर सूचकांक में मजबूती लौटी है। सोने-चांदी की कीमतों में कमी आने की एक वजह अमेरिका सहित भारत में एक और आर्थिक पैकेज की चर्चा भी है। इससे सोने चांदी की कीमतों पर दबाव बढ़ा है। दुनियाभर के शेयर बाजारों पर निवेशकों का भरोसा बढ़ा है, जिससे सोने और चांदी की तरफ उनका झुकाव कम हुआ है। 

 अब सोने में निवेश करना चाहिए या प्रॉफिट बुक करके निकल लें?

सोने-चांदी में निवेश से बचे निवेशक 
विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों को अभी सोने में फिलहाल खरीदारी से बचना चाहिए। सोने में लगातार तेजी के बाद अब बिकवाली देखने को मिल सकती है। सोने का भाव वापस 50,000 रुपये  प्रति दस ग्राम से नीचे जा सकता है। वहीं चांदी के भाव 60,000 रुपये तक फिर से पहुंच सकते हैं। ऐसे में सोने या चांदी में खरीदारी की योजना बना रहे हैं निवेशकों को फिलहाल इंतजार करना फायदेमंद होगा।

ऐतिहासिक रहा था जुलाई का महीना
- 10% से ज्यादा का उछाल आया था सोने की कीमत में जुलाई में 
- 5,000 रुपए से ज्यादा हुआ महंगा था सोना जुलाई में 
- 30% का उछाल आया था जुलाई में चांदी की कीमत में
- 15,000 रुपए हुई महंगी थी जुलाई में चांदी 
- 4 साल में सोने के लिए सबसे शानदार महीना रहा था जुलाई 

सोने और चांदी के दामों में आई जबरदस्त गिरावट, जानें आज का गोल्ड रेट

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:investing in gold silver is no longer profitable