DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छोटी बचत पर घट सकती हैं ब्याज दरें, जानें कितना हो सकता है आपको नुकसान 

रिजर्व बैंक की ओर से पिछले कुछ समय में ब्याज दरों में कटौती के बाद बैंकों ने कर्ज सस्ता कर उपभोक्ताओं को राहत दी है। लेकिन कर्ज और जमा पर संतुलन को देखते हुए सरकार जल्द छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें घटा सकती है। सूत्रों के मुताबिक 30 जून से पहले इस पर फैसला हो सकता है।

कम मिलेगा ब्याज: सूत्रों के मुताबिक छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 0.30 फीसदी से 0.50 फीसदी तक की कटौती हो सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि मोदी सरकार निवेश को अधिक से अधिक प्रोत्साहन देने के लिए पूंजी लागत घटाने पर हमेशा जोर देती रही है। सरकारी नई नीति के तहत अब ब्याज दरों में कटौती का लाभ सभी को पहुंचाने के लिए छोटी बचत योजनाओं की दरों में कटौती हो सकती है। रिजर्व बैंक गवर्नर ने दिए संकेत: जून में रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक में चर्चा के दौरान रिजर्व बैंक गवर्नर शक्ति कांत दास ने इस बात का संकेत दिया था कि छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें तय फॉर्मूले की तुलना में ज्यादा हैं।

1. बचत योजनाओं पर मौजूदा दरें वर्तमान समय में पांच साल की आरडी पर 7.3% और पांच साल की एफडी पर 7.8% ब्याज मिल रहा है। सुकन्या समृद्धि योजना में 8.5% और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में 8.7% ब्याज मिल रहा है। पीपीएफ पर 8%और एमआईएस पर 7.7%ब्याज मिल रहा है। 
2. से 50 आधार अंकों की कटौती कर सकता है केंद्र
3. जुलाई से छोटी बचत योजनाओं पर नई दर लागू होने की उम्मीद

EPFO ने बदले PF निकालने के नियम, जानें क्या है नए रूल्स

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:interest on Small saving scheme may cut soon