DA Image
4 सितम्बर, 2020|5:03|IST

अगली स्टोरी

महंगाई की मार: आलू ने लगाई हाफ सेंचुरी, टमाटर ने शतक

second center of international potato research institute will open in agra

रिजर्व बैंक का अनुमान सही साबित हो रहा है। देशभर के खुदरा बाजारों में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। कुछ शहरों में आलू जहां अर्ध शतक लगा चुका है तो वहीं टमाटर पहले से और अधिक लाल हुआ है। ईटानगर में टमाटर 100 रुपये किलो तक पहुंच गया है। वहीं दिल्ली में टमाटर 60 से 80 रुपये किलो बिक रहा है। जबकि पूर्णिया, सिलिगुड़ी और खड़गपुर में 80 रुपये किलो बिक रहा है। कुछ शहरों में इसका रेट 75 रुपये है। वहीं अधिकत शहरों में आलू 30 रुपये पर टिका हुआ है। उपभोक्ता मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 9 अगस्त को देश में आलू का खुदरा मूल्य अधिकतम 50 और न्यूनतम 25 रुपये था। वहीं प्याज 12 रुपये किलो से 50 रुपये के बीच था। जबकि टमाटर 20 रुपये से 100 रुपये किलो तक बिक रक रहा था। 

केंद्र आलू प्याज टमाटर
ईटानगर 50 50 100
पूर्णिया 25 16 80
सिलिगुड़ी 35 25 80
खडगपुर 30 20 80
रायगंज 30 20 75
राउरकेला 30 18 70
कोलकाता 28 24 70
पुरुलिया 30 20 70
गुवाहाटी 30 30 70
अगरतला 35 29 63
बेरहामपुर 30 18 60
पोर्ट ब्लैर 45 30 60
मुंबई 40 33 57
दिल्ली 33 22 56
इंदौर 25 20 55
जबलपुर 32 28 55
गुड़गांव 25 20 50
मंडी 30 20 50
लुधियाना 30 20 50
रायपुर 25 25 50
बिलासपुर 30 25 50
जगदलपुर 25 30 50
रीवा 25 12 50
मालदा 30 22 50
भटिंडा 30 20 45
अंबिकापुर 30 20 45
ग्वालियर 40 15 45
शिमला 40 18 44
करनाल 28 19 43
हिसार 25 18 40
सोलन 30 20 40
भोपाल 30 18 40
सागर 25 12 40
भुवनेश्वर 30 20 40
कटक 28 17 40
जेयपोरे 29 18 40
बालासोर 26 18 40
चंडीगढ़ 25 20 35
दुर्ग 35 25 35
नासिक 43 25 35
नागपुर 34 20 34
आदिलाबाद 40 25 34
करीमनगर 34 25 32
रामपुरहाट 30 30 30
सूर्यापेट 38 24 30
पुडुचेरी 30 25 30
विशाखापत्तनम 31 14 29
विजयवाड़ा 33 16 28
वारंगल 27 17 28
कुरनूल 32 20 28
जादचेरला 34 16 26
हैदराबाद 32 16 24
पुणे 30 20 20
हैदराबाद 32 16 24
पुणे 30 20 20
अधिकतम मूल्य 50 50 100
न्यूनतम मूल्य 25 12 20
मॉडल मूल्य 30 20 45

स्रोत:-  राज्य नागरिक आपूर्ति विभाग

नोट:- विभिन्न केन्द्रों पर किसी वस्तु की कीमतों में अंतर आंशिक रूप से उसकी किस्म में अंतर होने के कारण है।

यह भी पढ़ें: महंगाई का सामना करने को रहें तैयार, जानें कब मिलेगी राहत

बता दें पिछले गुरुवार को रिजर्व बैंक ने कहा था कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में महंगाई की दर ऊंची रह सकती है पर वर्ष की दूसरी छमाही में यह नीचे आ जाएगी। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने यहां मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय बैठक के निष्कर्ष और निर्णयों की जानकारी देते हुए कहा कि आपूर्ति की राह में अड़चने बनी हुई हैं इससे तमाम वर्ग की चीजों पर मुद्रास्फीति का दबाव है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Inflation hit potato hits half century tomato century