DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उद्योग जगत को मजबूत सरकार से आर्थिक वृद्धि में तेजी की उम्मीद

bjp

देश के उद्योग जगत ने गुरुवार को उम्मीद जताई है कि केन्द्र में स्थिर और मजबूत सरकार के आने से आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा मिलेगा और विदेशी निवेश का प्रवाह बढ़ेगा। लोकसभा चुनाव परिणाम के रुझान बता रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से भारी बहुमत के साथ सत्ता में लौट रही है। 

जाने माने उद्योगपति और गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि गोदरेज ने कहा कि नई सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि को और तेज करने की दिशा में काम करेगी। उन्होंने कहा कि कंपनी कर को कम करने की दिशा में भी कदम उठाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी कंपनी कर की दरें दुनिया में सबसे ऊंची दरों में से एक हैं। इन्हें कम किया जाना चाहिए। हालांकि, सरकार ने कंपनी कर की दर को घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने का वादा किया हुआ है। कॉर्पोरेट कर के मामले में गोदरेज ने कहा सरकार ने छोटी कंपनियों के लिए इसे कम कर दिया है लेकिन बड़ी कंपनियों के मामले में ऐसा नहीं किया गया है। मेरा मानना है कि यह काफी महत्वपूर्ण है। और भी कई कदम हो सकते हैं जिनसे कि वृद्धि को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किए हैं। पनगढ़िया ने कहा कि यह बड़े सुधारों को आगे बढ़ाने और देश में पूरी तरह बदलाव लाने का समय है। सरकार को कारोबार और उद्यमियों के लिए स्वस्थ्य और अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है। इसके साथ ही उच्च-उत्पादकता के रोजगार पैदा करने की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए। आनंद महिंद्रा ने पीएम नरेंद्र मोदी की जीत पर ट्वीट किया। 

 

बंबई शेयर बाजार (बीएसई) के सदस्य रमेश दमाणी का मानना है कि आने वाले समय में भारत में विदेशी मुद्रा प्रवाह बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि नीतियों में निरंतरता बनी रहेगी। देश में अभी भी बड़े पैमाने पर निवेश करने वाली वैश्विक कंपनियां मौजूद हैं। इन कंपनियों का निवेश अब तेज होगा। उन्होंने कहा कि पिछले छह माह के दौरान जो भी समझौते हुए हैं, वह अब क्रियान्वित होंगे। इस प्रकार बड़ी मात्रा में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित होगा। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि इस चुनाव के बाद विदेशी मुद्रा प्रवाह तेज होगा। हीरानंदानी हाउस के संस्थापक और निदेशक सुरेन्द्र हीरानंदानी ने कहा कि वह केन्द्र में स्थिर सरकार में विश्वास करते हैं। मजबूत सरकार के आने से रीयल एस्टेट क्षेत्र में वृद्धि और तेज होगी। 

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनावों में मोदी लहर के चलते भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 300 से अधिक सीटें मिल रही हैं। भारतीय जनता पार्टी अकेले 295 सीटों के साथ सत्ता में लौट रही है।

लोकसभा चुनाव में NDA को बहुमत: अब इन 7 बड़ी चुनौतियों से होगा सामना

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian Business community is hopeful that stable govt helps in economic growth