DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  क्रेडिट कार्ड से खरीदारी में बढ़ी हिचक, कमाई घटने की आशंका से सहमे उपभोक्ता
बिजनेस

क्रेडिट कार्ड से खरीदारी में बढ़ी हिचक, कमाई घटने की आशंका से सहमे उपभोक्ता

नई दिल्ली। एजेंसीPublished By: Drigraj Madheshia
Mon, 23 Nov 2020 09:00 AM
क्रेडिट कार्ड से खरीदारी में बढ़ी हिचक, कमाई घटने की आशंका से सहमे उपभोक्ता

क्रेडिट कार्ड से जमकर खर्च करने वाले उपभोक्ता कोरोना संकट के दौर में संभलकर खर्च कर रहे हैं। इस साल सितंबर में क्रेडिट कार्ड से 14.9 करोड़ स्वाइप हुआ है जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 17 फीसदी कम है। हालांकि, डेबिट कार्ड से खर्च में कुछ तेजी आई है। रिजर्व बैंक के आंकड़ों में यह जानकारी सामने आई है।

यह भी पढ़ें: आलू इन शहरों में 70 पर पहुंचा, प्याज 100 के पार, टमाटर शतक के करीब

क्रेडिट कार्ड के उपयोग में गिरावट को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि इसके कई कारण हो सकते हैं। उनका कहना है कि कोरोना के दौर में छंटनी और वेतन कटौती का डर उपभोक्ताओं में कम नहीं हुआ है। ऐसे में वह किसी अनहोनी की आशंका में क्रेडिट कार्ड को बड़े मददगार के रूप में मानकर चल रहें जिसकी वजह से मौजूदा समय में वह इससे खर्च करने में बच रहे हैं।

यह भी पढ़ें: यूलिप प्लान को समय से पहले खत्म करने पर देना होगा टैक्स

उनका कहना है कि इसके अलावा कारोबारी गतिविधियां बहुत तेजी से आगे नहीं बढ़ रही हैं और कोरोना के टीके में देरी और कोरोना के बढ़ते मामले से भी उपभोक्ताओं में डर बना हुआ है। होटल, रेस्त्रां, ट्रेन और हवाई यात्राएं सख्त शर्तों के साथ जारी हैं जिससे उपभोक्ता बाहर निकल कर खर्च नहीं कर पा रहे हैं। इसकी वजह से भी क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में गिरावट आई है।

कमाई घटने की आशंका से सहमे

क्रेडिट कार्ड ज्यादातर नौकरीपेशा करते हैं। वित्तीय सलाहकारों का कहना है कि कोरोना संकट से छंटनी और वेतन कटौती से नौकरीपेशा वर्ग क्रेडिट कार्ड के उपयोग को मुश्किल वक्त के लिए बचाकर रखना पसंद कर रहा है। अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत के बाजवदू उपभोक्ताओं में कमाई घटने का डर कम नहीं हुआ है। इससे क्रेडिट कार्ड का उपयोग घटा है।

यात्रा प्रतिबंध का भी असर

विशेषज्ञों का कहना है कि क्रेडिट कार्ड का ज्यादा इस्तेमाल ट्रेन-हवाई जहाज टिकट की बुकिंग और पर्यटन के लिए होटल बुकिंग में होता है। कोरोना के दौर में हवाई सफर बंदिशों के साथ जारी है। जबकि ट्रेनों का सामान्य परिचालन शुरू नहीं हुआ है। इसकी वजह से भी क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में गिरावट आई है।

मोरेटोरियम से सबक

क्रेडिट कार्ड के बिल भुगतान की डिफॉल्ट के मामले ज्यादा आते हैं। आरबीआई ने जब मार्च में मोरेटोरियम की घोषणा की थी उसमें यह शर्त रखी थी कि 1 मार्च तक क्रेडिट कार्ड समेत किसी भी तरह के कर्ज भुगतान पर डिफॉल्ट नहीं होने पर ही उसका लाभ मिलेगा। वित्तीय सलाहकारों का कहना है कि इसकी वजह से क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने वाले एक बड़े तबको को लाभ नहीं मिला। ऐसे में वह आगे डिफॉल्ट को लेकर सजग हुए हैं जिससे क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल घटा है।

ऑफलाइन इस्तेमाल ज्यादा बढ़ा

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड दोनों का ऑफलाइन इस्तेमाल बढ़ा है। रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक जून से सितंबर अवधि में डेबिट कार्ड का ऑफलाइन इस्तेमाल 19 फीसदी बढ़ा है, जबकि क्रेडिट कार्ड का 22 फीसदी बढ़ा है। इसके बावजूद पिछले साल की समान अवधि की तुलना में वृद्धि कम रही है।

आंकड़े

  • 14.9 करोड़ स्वाइप क्रेडिट कार्ड से इस साल सितंबर में
  • 18 करोड़ स्वाइप हुआ था पिछले साल सितंबर में
  • 12.5 करोड़ स्वाइप हुआ था इस साल जून में क्रेडिट कार्ड
  • 23.3 फीसदी की गिरावट पिछले साल के मुकाबले इस साल जून में

संबंधित खबरें