DA Image
4 जून, 2020|4:32|IST

अगली स्टोरी

रिजर्व बैंक के फैसले से जमा पर लग सकता है झटका, निवेशकों के पास ये हैं विकल्प

                                          fd

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कोरोना संकट की इस घड़ी में कर्ज सस्ता करने के लिए एक बार फिर से रेपो रेट में 40 आधार अंकों की कटौती की है। आरबीआई ने रेपो रेट 4.4 फीसदी से घटाकर चार फीसदी कर दिया है। वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि इस फैसले से कर्ज लेना तो सस्ता होगा, लेकिन जमा योजनाओं पर मिलने वाला रिटर्न कम हो सकता है। बैंक आम लोगों को कर्ज सस्ता देने के लिए एफडी पर ब्याज घटाएंगे। इससे एफडी करने वाले निवेशकों का रिटर्न घटेगा।

मिलने वाला रिटर्न कम होगा

सेबी रजिस्टर्ड फाइनेंशियल प्लानर जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि एफडी पर मिलने वाला रिटर्न काफी कम हो गया है। इसके चलते इस पर महंगाई के मुकाबले मिलने वाला रिटर्न नकारात्मक है। ऐसे में निवेशकों के पास पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि, एसआईपी के जरिये म्यूचुअल फंड और ईएलएस बेहतर विकल्प हैं। इसमें निवेशक अपने लक्ष्य के अनुसार निवेश कर सकते हैं। लंबी अवधि में इनमें किसी भी निवेश पर बहुत जोखिम नहीं है और निवेशकों को उनके निवेश पर एफडी के मुकाबले काफी अच्छा रिटर्न मिल सकता है।

यह भी पढ़ें: 31 अगस्त तक नहीं देनी पड़ेगी EMI, होम लोन, पर्सनल लोन, वाहन कर्ज की ईएमआई चुका रहे लोगों को RBI ने दी बड़ी राहत

 कोरोना संकट के बीच एफडी पर बढ़ा भरोसा

उत्पाद 8 मई 27 मार्च से बदलाव
एफडी 124 लाख 4.4 लाख बढ़ा
निवेश 40 लाख 3.4 लाख बढ़ा
जमा 138 लाख 2.8 लाख बढ़ा
बैंक क्रेडिट 102 लाख 1.2 लाख घटा
बचत 15 लाख 1.6 लाख घटा

स्रोत: आरबीआई, आंकड़े: करोड़ रुपये में
 
भारत में करोड़ों वरिष्ठ नागरिक फिक्स्ड डिपॉजिट ( एफडी ) से प्राप्त ब्याज की रकम पर निर्भर हैं। बैंकों ने एफडी पर दी जा रही ब्याज दरों में कटौती की गई है। इससे उनके आया पर बुरा असर पड़ा है। एसबीआई ने वरिष्ठ नागरिकों को पांच साल या उससे ज्यादा समय पर जमा करने पर 30 आधार अंकों का अतिरिक्त प्रीमियम ब्याज देने का ऐलान किया है। पर्सनल फाइनेंस विशेषज्ञों का कहना है कि आरबीआई द्वारा रेपो रेट में कटौती से बैंक सवधि जमा की दरों पर ब्याज आने वाले समय में घटाएंगे। मार्च में आरबीआई ने रेपो रेट घटाया था तो स्टेट बैंक ने एफडी के ब्याज दर में 0.50% की कटौती की थी। आने वाले दिनों में अधिकांश बैंक एफडी पर ब्याज दर 0.25 से 0.50% तक घटा सकते हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:impact of rbi credit policy on small saving scheme like fd home loan car loan personal loan intrest on fixed deposits