DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

IMF ने अमेरिका-चीन व्यापार तनाव को बताया वैश्विक वृद्धि के लिए खतरा

IMF

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने बृहस्पतिवार को आगाह करते हुए कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार तनाव बढ़ने से वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला बाधित होने की आशंका है तथा 2019 में आर्थिक वृद्धि में सुधार का अनुमान जोखिम में पड़ सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के 200 अरब डॉलर मूल्य के चीनी आयात पर शुल्क बढ़ाकर 25 प्रतिशत करने के कुछ दिनों बाद आईएमएफ ने यह कहा है।

पिछले साल मार्च में अमेरिका द्वारा चीन से आयातित इस्पात और एल्युमीनियम पर भारी शुल्क लगाये जाने के बाद से विश्व की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार को लेकर तनाव है। इसके जवाब में चीन ने अरबों डॉलर मूल्य के चीनी आयात पर शुल्क लगाया। इससे वैश्विक व्यापार युद्ध आशंका बढ़ी है।

ट्रंप ने 10 मई को चीन से आयातित 200 अरब डॉलर मूल्य के उत्पादों पर शुल्क 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया। उसके बाद व्यापार तनाव और बढ़ा है। आईएमएफ ने एक ब्लाग में कहा कि इस तनाव से स्पष्ट रूप से अमेरिका तथा चीन के उपभोक्ताओं को सर्वाधिक नुकसान हो रहा है। इस ब्लाग को यूजिनो सेरूति, गीता गोपीनाथ तथा आदिल मोहम्मद ने लिखा है।

सेरूति फिलहाल आईएमएफ के शोध विभाग में निदेशक के सहायक हैं, मोहम्मद शोध विभाग में अर्थशास्त्री तथा भारतीय मूल की गोपीनाथ मुद्राकोष की प्रमुख अर्थशास्त्री हैं। मुद्राकोष ने कहा कि हाल में अमेरिका ने शुल्क बढ़ाया और चीन ने शुल्क बढ़ाने की घोषणा की है, उससे दोनों देशों के बीच सभी व्यापार प्रभावित होंगे। इससे वैश्विक जीडीपी में अल्पकाल में 0.33 प्रतिशत प्रभावित होगा।

इसमें कहा गया है कि व्यापार मतभेद को अगर दूर नहीं किया जाता है तथा यह आगे वाहन उद्योग जैसे अन्य क्षेत्रों पर बढ़ता है तो इसका असर कई देशों पर होगा। इसका व्यापार एवं वित्तीय बाजार धारणा पर असर पड़ेगा, उभरते बाजारों के बॉन्ड ब्याज तथा मुद्राओं पर भी नकारात्मक असर होगा और निवेश तथा व्यापार धीमा होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:IMF warns US China trade tension can jeopardise global growth in 2019