DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  इतने दिनों तक अगर Phone Pay और Paytm नहीं करते हैं यूज तो कंपनी कर देंगी बंद, जानें मोबाइल वाॅलेट से जुड़ी अहम जानकारी 

बिजनेसइतने दिनों तक अगर Phone Pay और Paytm नहीं करते हैं यूज तो कंपनी कर देंगी बंद, जानें मोबाइल वाॅलेट से जुड़ी अहम जानकारी 

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Tarun Singh
Sat, 10 Apr 2021 09:59 AM
इतने दिनों तक अगर Phone Pay और Paytm नहीं करते हैं यूज तो कंपनी कर देंगी बंद, जानें मोबाइल वाॅलेट से जुड़ी अहम जानकारी 

कितने दिनों तक अगर आप पेटीएम, फोन पे जैसे मोबाइल वाॅलेट का प्रयोग नहीं करते हैं तो वह निष्क्रिय हो जाएगा। यह एक ऐसा सवाल है जिसका स्पष्ट जवाब नहीं है। भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने निष्क्रिय पड़े सेविंग और करंट अकाउंट को लेकर एक निश्चित गाइडलाइन तय की है, लेकिन मोबाइल वाॅलेट को लेकर अभी तक आरबीआई की तरफ से कोई गाइडलाइन नहीं बनाई गई है। फिर सवाल है कि अगर कस्टमर अपने वाॅलेट का प्रयोग नहीं करता तो क्या कंपनी उन्हें बंद कर सकती हैं? 

जन धन खाते खोलने में निजी बैंक फिसड्डी, सरकारी बैंकों ने तीन करोड़ तो प्राइवेट ने सिर्फ 55 हजार खाते खोले

पे वर्ड मनी के डायरेक्टर प्रवीण धाभाई इस पूरे मसले पर कहते हैं, 'कंपनी की अपनी आंतरिक गाइडलाइन होती है जिसके आधार पर वह फैसला लेते हैं।' उन्होंने कहा, 'अगर मोबाइल वाॅलेट से एक साल तक कोई ट्रांजैक्शन नहीं होता है तो वह निष्क्रिय हो जाएगा।' प्रवीण धाभाई के अनुसार मोबाइल वाॅलेट कंपनी आज के वही प्रक्रिया अपना रही हैं जो बैंक, अकाउंट को लेकर अपनाते हैं। 

इस हफ्ते इन शेयरों ने दिया 55 फीसद तक रिटर्न, निवेशकों ने काटी चांदी

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि बैंक ऐसे सभी खातों का एनुअल रिव्यू रखें जिसने कोई लेन-देन पिछले एक या दो साल के दौरान ना हुआ हो। ऐसे खातों को चिंहित करने के बाद बैंक कस्टमर से बातचीत करें, अगर तब भी कोई जवाब नहीं आता है तो फिर ऐसे खातों का संचालन बंद कर दिया जाए। 

वाॅलेट कंपनी भी अपने कस्टमर से सम्पर्क करें अगर उनके खातों से कोई लेन-देन एक साल तक नहीं होता है। बैंक अपनी पाॅलिसी के आधार पर भी समय तय कर सकते हैं। अगर कस्टमर की तरफ से जवाब आता है तो उनका वाॅलेट सक्रिय रखें, नहीं तो बंद कर दें। ज्यादातर वाॅलेट कंपनी ग्राहकों को तीन साल तक समय दे रही हैं। 

सोने-चांदी के रेट में बदलाव, 42545 पर पहुंचा 22 कैरेट गोल्ड का भाव

अभी तक के नियमों के अनुसार अगर क्सटमर 'वाॅलेट' को बंद करने का निर्णय करता है तो वह पैसा वापस नहीं आएगा। ऐसे में ग्राहकों के पास सिर्फ एक विकल्प है की वह खाते में मौजूद पैसों को खर्च कर दे। धाभाई बताते हैं, 'रिजर्व बैंक पैसों को बैंक खातों में भेजने की अनुमति देता है।' 

संबंधित खबरें