DA Image
23 अक्तूबर, 2020|10:27|IST

अगली स्टोरी

फेस्टिव सीजन में खरीदने जा रहे हैं प्रापर्टी तो इन 5 बातों को जरूर जान लें वरना पड़ सकता है पछताना

बजट ज्यादा बढ़ाने से हो सकती है मुश्किल, बिल्डर को कर्ज देने वाले बैंकों की भी पड़ताल करें

Prices of flats

घर/फ्लैट खरीदना जीवन के बहुत महत्वपूर्ण फैसले में से एक होता है। यह वास्तव में आपके एक सपने के पूरा होने जैसा भी होता है। सालों तक बचत करने और योजना बनाने के बाद आपकी कोशिश यह होनी चाहिए कि आप सही फैसला लें, जिससे बाद में आपको कोई पछतावा ना हो। हम आपको यहां कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं, जिनका ध्यान रखकर आप सही फैसला ले सकते हैं। घर खरीदने में आपकी बचत के साथ प्रॉपर्टी की कीमत, बिल्डर की स्थिति और उस प्रॉपर्टी पर कर्ज देने वाले बैंकों की जानकारी भी बेहद अहम होती है। कोरोना को देखते हुए आय घटने और खर्च बढ़ने से काफी कुछ मुश्किल हो गया है। ऐसे में आपको अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है।

पहला: प्रॉपर्टी की कीमत

if you want a loan of 10 thousand prime minister self fund scheme then you will have to buy mobile f

सबसे पहले आपको घर खरीदने के लिए एक बजट तैयार करना चाहिए।9+ अगर आपको पता है कि आप घर खरीदने पर कितनी रकम खर्च कर सकते हैं तो घर चुनना आसान हो जाता है। प्लान अगेड एडवाइर के संस्थापक विशाल दहिया का कहना है कि अपनी हर माह की कमाई का 30 फीसदी से अधिक होम लोन की ईएमआई न रखें और इसको ध्यान में रखकर ही प्रॉपर्टी का चुनाव करें। विशेषज्ञों का कहना है कि इसके बाद आस-पास के इलाके में मौजूद प्रॉपर्टी से अपनी संपत्ति की तुलना करें। इससे आपको पता लग जाएगा कि बिल्डर ने आपको सही कीमत बताई है या नहीं। अब ऐसे बहुत से साधन हैं जिनसे आप संपत्ति कीमत की तुलना कर सकते हैं। प्रॉपर्टी के ऑनलाइन पोर्टल , इलाके के प्रॉपर्टी डीलर आदि से उस इलाके में संपत्ति की कीमत का अनुमान लगा सकते हैं।

दूसरा: रेडी टू मूव या अंडर कंस्ट्रक्शन

good news cheap flat society pm awas yojana last date of form for house extended up lucknow

दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई शहरों में लाखों तैयार फ्लैट (रेडी-टू मूव) बिना बिके पड़े हैं। यह आमतौर पर अंडर कंस्ट्रक्शन फ्लैट की तुलना में महंगे होते हैं। हालांकि, इनको खरीदकर आप तुरंत उसमें रहने के लिए जा सकते हैं। ऐसे में इसमें आपको किराया पर होने वाले खर्च की बचत होगी। वहीं अंडर कंस्ट्रक्शन फ्लैट सस्ते होते हैं। इस तरह के फ्लैट समय से पांच से छह साल की देरी से चल रहे हैं। बैंक इसपर कर्ज देने के तीन साल के बाद ईएमआई लेने लगते हैं। ऐसे में आपको किराया और ईएमआई दोनों देने की नौबत आ सकती है। हालांकि, कई चरणों में भुगतान सुविधा की वजह से थोड़ी राहत होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि मौजूदा हालात को देखते हुए रेडी-टू-मूव फ्लैट फायदे का सौदा साबित हो सकता है।

तीसरा: फ्लैट का कारपेट एरिया

delhi flat

आम तौर पर जब आप किसी प्रॉपर्टी का विज्ञापन देखते हैं तो उसमें सुपर बिल्ट अप एरिया लिखा जाता है। इसमें शाफ्ट, एलीवेटर स्पेस, सीढियां, दीवार की मोटाई जैसी चीजें भी शामिल होती है। अगर आप इसके हिसाब से अनुमान लगाएंगे तो फ्लैट देखने पर आप मायूस होंगे, क्योंकि वास्तव में आपका कारपेट एरिया कम निकलेगा। बिल्ट अप एरिया की तुलना में कारपेट एरिया कई मामलों में 38 फीसदी तक कम होता है। ऐसे में फ्लैट खरीदते समय इस बात की पड़ताल जरूर करें। रेरा ने अब कारपेट एरिया और कॉमन एरिया के लिए अलग-अलग कीमत तय करने को कहा है। इसका भी ध्यान रखें।

चौथा: पजेशन कब मिलेगा

दिल्ली-एनसीआर या देश के बड़े शहरों में प्रॉपर्टी खरीदते वक्त आपको पजेशन की तारीख का भी ध्यान रखने की जरूरत है। अब बिल्डर आम तौर पर पजेशन में काफी देर लगा रहे हैं। एक खरीदार के रूप में आपको पजेशन देने में देरी होने पर मुआवजे की रकम के बारे में एग्रीमेंट में दिए क्लॉज पर ध्यान देना चाहिए। आम तौर पर बिल्डर आपसे छह महीने का ग्रेस पीरियड मांग सकता है, लेकिन उसके लिए भी वैध कारण होना चाहिए।

पांचवां: कौन बैंक दे रहा कर्ज

bajaj home loan

आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि उस बिल्डर के प्रोजेक्ट में कौन से बैंक लोन दे रहे हैं। अगर किसी बिल्डर की छवि खराब है तो आम तौर पर बड़े बैंक उसके प्रोजेक्ट में प्रॉपर्टी खरीदने के लिए कर्ज नहीं देते हैं। आपको प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बारे में सही तरीके से पता करना चाहिए। सरकारी बैंक काफी पड़ताल के बाद बिल्डर को कर्ज देने को तैयार होते हैं। ऐसे में बिल्डर को निजी बैंकों के साथ सरकारी बैंक भी कर्ज दे रहे हैं तो आपका काम आसान हो सकता है। इसके अलावा अतिरिक्त और छुपे हुए शुल्क आप प्रॉपर्टी खरीदने से संबंधित सभी चीज ध्यान से देखें। आपके लेट पेमेंट पर कितना जुर्माना लगता है और बिल्डर के लेट पजेशन देने पर कितनी पेनाल्टी है, सबका ध्यान रखें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:If you are going to buy property in festive season then you must know these 5 things