DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  इस हफ्ते कैसी रहेगी शेयर बाजार की चाल, टीकाकरण की खबरें, Q3 रिजल्ट, कितना डालेंगे बाजार पर असर

बिजनेसइस हफ्ते कैसी रहेगी शेयर बाजार की चाल, टीकाकरण की खबरें, Q3 रिजल्ट, कितना डालेंगे बाजार पर असर

एजेंसी,मुंबईPublished By: Drigraj Madheshia
Sun, 03 Jan 2021 11:36 AM
इस हफ्ते कैसी रहेगी शेयर बाजार की चाल, टीकाकरण की खबरें, Q3 रिजल्ट, कितना डालेंगे बाजार पर असर

इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजार को वृहत आर्थिक आंकड़े, टीकाकरण से जुड़ी खबरों और कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणाम से दिशा मिलेगी। ऐसा बाजार के एक्सपर्ट्स का मानना है। सकारात्मक वैश्विक प्रवृत्ति और कोरोना वायरस टीकाकरण को लेकर खबरों से पिछले सप्ताह मानक सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी दैनिक आधार पर रिकार्ड स्तर पर रहें। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 895.44 अंक यानी 1.90 फीसद, जबकि निफ्टी 269.25 अंक यानी 1.95 फीसद मजबूत हुए।

यह भी पढ़ें: EPFO: कैसे चेक करें ईपीएफ बैलेंस? ये हैं 4 बेहद आसान तरीके

रेलिगेयर ब्रोकिंग का अनुमान

रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. के उपाध्यक्ष अजित मिश्रा ने कहा, ''इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणाम आने लगेंगे। इसकी शुरूआत आठ जनवरी को टीसीएस के वित्तीय परिणाम आने के साथ होगी। आर्थिक मोर्चे पर निवेशकों की नजर पीएमआई (परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स) विनिर्माण और सेवा आंकड़ों पर होगी। विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने से बाजार में तेजी बनी हुई है। हालांकि उन्होंने कहा कि मानक सूचकांकों में पिछले सप्ताह की तेजी में ठोस कारणों का अभाव था। ऐसे में आने वाले समय में मुनाफावसूली या कुछ सुधार देखने को मिल सकता है।

मोतीलाल ओसवाल व जियोजीत का विश्लेषण

 मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लि. के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ''कंपनियों के दिसंबर तिमाही के वित्तीय परिणाम और केंद्रीय बजट बाजार के लिये महत्वपूर्ण घटनाक्रम होंगे। वहीं जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ''बाजार की प्रवृत्ति कंपनियों के जारी होने वाले वित्तीय परिणाम से तय होगी। सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और बैंक शेयर सुर्खियों में रहेंगे। इसका कारण इन क्षेत्रों की बड़ी कंपनियां आने वाले दिनों में वित्तीय परिणाम जारी कर सकते हैं। नायर ने कहा कि कंपनियों के तिमाही परिणाम में सुधार से बाजार में तेजी बनी रह सकती है।

सैमको सिक्योरिटीज का अनुमान

सैमको सिक्योरिटीज की वरिष्ठ शोध विश्लेषक निराली शाह ने कहा, ''निवेशकों की नजर वैश्विक प्रवृत्ति खासकर अमेरिका में राजनीतिक घटनाक्रमों पर होगी जहां सत्ता परिवर्तन अंतिम चरण में है। इससे बाजार को कुछ समय के लिये गति मिल सकती है। इसके अलावा घरेलू कंपनियों के वित्तीय तिमाही परिणाम से भी बाजार को दिशा मिलेगी। बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी ने वर्ष 2020 में कुल मिलाकर करीब 15 फीसद का लाभ दिया। सेंसेक्स में 15.7 फीसद जबकि निफ्टी में 14.9 फीसद की तेजी आई।
 

संबंधित खबरें