Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Housing Development and Infrastructure share price 5 rupees hits continuously 9 days after huge down 13 feb meeting - Business News India

₹1100 से टूटकर ₹5 पर आया यह शेयर, अब 9 दिन से लगातार लग रहा अपर सर्किट, 13 फरवरी का दिन अहम

Housing Development & Infrastructure: रियल्टी सेक्टर निवेशकों की रुचि का केंद्र बिंदु बन रहा है। इस सेक्टर कई शेयर मल्टीबैगर रिटर्न दिए हैं।

Varsha Pathak लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीSun, 11 Feb 2024 04:38 PM
हमें फॉलो करें

Housing Development & Infrastructure: रियल्टी सेक्टर निवेशकों की रुचि का केंद्र बिंदु बन रहा है। इस सेक्टर कई शेयर मल्टीबैगर रिटर्न दिए हैं। आज हम आपको इस सेक्टर के एक ऐसे शेयर के बारे बता रहे हैं जो इन दिनों लगातार अपने निवेशकों को मालामाल कर रहा है। यह शेयर हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) का है। हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के शेयरों में लगातार 9 दिनों तक अपर सर्किट लग रहा है। एनएसई पर यह शेयर 5.80 रुपये तक पहुंच गया है। इधर, 13 फरवरी को कंपनी की बोर्ड मीटिंग भी है। इसमें दिसंबर तिमाही के नतीजों के अलावा कई अहम ऐलान हो सकते हैं। 

1000 रुपये से अधिक पहुंचा था भाव
बता दें कि हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के शेयर कभी शेयर बाजार का प्रिय माना जाता था। एचडीआईएल के शेयर साल 2008 में 1100 रुपये से अधिक के भाव पर थे। वर्तमान में यह शेयर 99% तक टूट चुका हैं। दरअसल, कंपनी दिवालियापन के प्रोसेस से गुजर रही है। खबर है कि शेठ डेवलपर्स और सनटेक रियल्टी जैसे दिग्गज नामों सहित 25 संस्थाओं ने संकटग्रस्त कंपनी को हासिल करने में रुचि व्यक्त की है। बता दें कि पहले कई रिपोर्ट्स में यह भी बताया गया था कि गौतम अडानी की कंपनी अडानी प्रॉपर्टीज भी HDIL को खरीदने की दौड़ में है। हालांकि, यह सिर्फ अनुमान ही था। 

यह भी पढ़ें- ₹4 पेनी स्टॉक पर टूटे निवेशक, खरीदने की मची लूट, लगातार कर रहा मालामाल 

क्या है मामला
आपको बता दें कि पीएमसी बैंक के स्कैम में एचडीआईएल की भूमिका संदिग्ध थी। इसी प्रकरण में कंपनी के प्रमोटर राकेश और सारंग वधावन को जेल की हवा खानी पड़ी। वहीं, कुछ संपत्तियां कुर्क भी की गई हैं। हालांकि, राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) की मुंबई पीठ ने बैंक ऑफ इंडिया की याचिका पर एचडीआईएल के खिलाफ ऋण शोधन मामला चलाने का निर्देश दिया था। याचिका में रियल्टी कंपनी पर 522 करोड़ रुपये के चूक का दावा किया गया है।
 

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें