Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Hindenburg another attack on Jack Dorsey firm block inc check what are Hindenburg accusations against - Business News India

हिंडनबर्ग ने एक और कारोबारी का हिला दिया साम्राज्य, कौन हैं इसके मालिक जिस पर अडानी जैसे ही लगे आरोप 

साथ ही कंपनी के प्रमुख जैक डॉर्सी (Jack Dorsey's) पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। बता दें कि हिंडनबर्ग की यह नई रिपोर्ट अडानी पर रिपोर्ट जारी होने के ठीक दो महीने के बाद आई है।

Varsha Pathak लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीThu, 23 March 2023 09:44 PM
पर्सनल लोन

यूएस-बेस्ड शॉर्ट सेलर कंपनी हिंडनबर्ग रिसर्च ने एक और रिपोर्ट जारी कर दी है। अबकी बार अमेरिकी रिसर्च फर्म ने टेक्नोलॉजी कंपनी ब्लॉक इंक (Block Inc) पर निशाना साधा है और कंपनी के प्रमुख जैक डॉर्सी (Jack Dorsey's) पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। बता दें कि हिंडनबर्ग की यह नई रिपोर्ट अडानी पर रिपोर्ट जारी होने के ठीक दो महीने के बाद आई है। आइए जानते हैं डिटेल में ब्लॉक इंक और जैक डॉर्सी पर लगे आरोप के बारे में....

जानिए ब्लॉक इंक के बारे में
ब्लॉक इंक को पहले स्क्वायर इंक के नाम से जाना जाता था। यह एक फाइनेंशियल प्लेटफॉर्म है। बता दें कि इस कंपनी ऐप की मदद से डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट रिसीव किया जाता  है। साल 2015 में कंपनी का आईपीओ Square के नाम से आया था। कंपनी के शेयर NYSE यानी न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड हैं। बाद में साल 2021 के दिसंबर महीने में Square का नाम बदलकर Block Inc कर दिया गया था। वर्तमान में कंपनी का मार्केट कैप 44 बिलियन डॉलर है।

यह भी पढ़ें- इस कंपनी ने गुजरात सरकार से की बड़ी डील, शेयर में तेजी, 2022 में आया था IPO 

जैक डॉर्सी और उनपर लगे आरोप
हिंडनबर्ग ने जैक डॉर्सी पर ब्लॉक में धोखाधड़ी को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। बता दें कि डॉर्सी ट्विटर के को-फाउंडर रह चुके हैं। वहीं,  2015 से 2021 तक वे ट्वीटर में बतौर सीईओ के रूप कार्यरत थे। हिंडनबर्ग ने दावा किया कि उन्होंने महामारी के दौरान अरबों डॉलर के शेयरों को हेरफेर करके मुनाफा कमाया है। हिंडनबर्ग ने जैक डॉर्सी पर ब्लॉक में धोखाधड़ी को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। हिंडनबर्ग ने दावा किया कि ट्विटर के को-फाउंडर रहे जैक डॉर्सी ने कोरोना महामारी के दौरान अरबों डॉलर के शेयरों को डंप करके मुनाफा कमाया। रिपोर्ट में कहा गया, "ब्लॉक के को-फाउंडर जैक डॉर्सी और जेम्स मैककेल्वे ने सामूहिक रूप से महामारी के दौरान $ 1 बिलियन से अधिक के स्टॉक बेच दिए।" इस दौरान कैश ऐप के प्रमुख प्रबंधक ब्रायन ग्रासडोनिया और सीएफओ अमृता आहूजा ने भी लाखों डॉलर के स्टॉक को बेचे हैं। हिंडनबर्ग ने यह भी कहा कि जैक डॉर्सी और शीर्ष अधिकारियों ने दूसरों की परवाह किए बिना अपनी सुरक्षा को सुनिश्चत किया।

रिपोर्ट में दावा किया गया है, "पूर्व कर्मचारियों का अनुमान है कि उनके द्वारा समीक्षा किए गए 40-75 प्रतिशत अकाउंट नकली थे जो इस धोखाधड़ी में शामिल थे। आपको बता दें कि हिंडनबर्ग ने हाल ही में भारत के अडानी समूह पर स्टॉक हेरफेर और लेखा धोखाधड़ी में लिप्त होने का आरोप लगाया था। 

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें