DA Image
4 दिसंबर, 2020|9:04|IST

अगली स्टोरी

SBI के बाद शिकायतों के मामले में दूसरे नंबर पर एचडीएफसी बैंक

sbi

देश में ग्राहकों की तरफ से सेवाओं से जुड़ी शिकायतों के मामले में भी एचडीएफसी बैंक दूसरे नंबर पर रहा है। हिन्दुस्तान को सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक रिजर्व बैंक के कम्प्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम यानी सीएमए पोर्टल पर एक साल की अवधि में एचडीएफसी के खिलाफ 30 हजार शिकायतें आई थी।

यह भी पढ़ें: डिजिटल लेनदेन: इन आठ बैंकों के ग्राहकों को भी झेलनी पड़ी मुसीबत

सबसे ज्यादा 92 हजार शिकायतें भारतीय स्टेट बैंक

1 जुलाई 2019 से 30 जून 2020 के दौरान बैंकिंग सिस्टम के खिलाफ कुल 3.80 लाख शिकायतें आईं थी, जिसमें से सबसे ज्यादा 92 हजार शिकायतें भारतीय स्टेट बैंक को लेकर थीं। कोरोना महामारी के दौरान देशव्वापी लॉकडाउन के समय भी मार्च से जून 2020 के दौरान एसडीएफसी बैंक के ग्राहकों ने करीब 10 हजार शिकायतें दर्ज कराई थीं। आंकलन के मुताबिक रिजर्व बैंक के पास पहुंचने वाली कुल शिकायतों में से करीब 25-30 फीसदी शिकायतें डिजिटल लेन देन में आई मुश्किलों और बैंकों की तरफ से इसके लिए गलत शुल्क वसूलने जैसे मुद्दों से जुड़ी रहती है।

यह भी पढ़ें: HDFC बैंक: RBI ने एचडीएफसी बैंक को नए क्रेडिट कार्ड जारी करने से रोका, ग्राहकों पर पड़ेगा असर

बैंक पर लंबी पाबंदी नहीं

जानकारों की राय में बैंक के उपर लगाई गई ये पाबंदी लंबे समय तक जारी नहीं रहेगी। आर्थिक मामलों के विशेषज्ञ योगेंद्र कपूर ने हिन्दुस्तान को बताया कि जैसे ही रिजर्व बैंक एचडीएफसी बैंक की तरफ से उठाए गए कदमों से संतुष्ट होगा उसके ऊपर लगाई पाबंदी हटा ली जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि इस एक्शन का देश के डिजिटल बैंकिंग सिस्टम पर कोई खास असर नहीं दिखेगा बल्कि ये कदम बैंकिंग सिस्टम को और भरोमंद बनाने की दिशा में उठाया गया लगता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:HDFC bank second in complaints after SBI