ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसHCL, Infosys से टीसीएस तक, बिखर गए IT सेक्टर के शेयर, समझें वजह

HCL, Infosys से टीसीएस तक, बिखर गए IT सेक्टर के शेयर, समझें वजह

आईटी सेक्टर में सबसे बड़ी गिरावट HCL के स्टॉक में रही। यह स्टॉक कारोबार के दौरान 7 फीसदी से ज्यादा लुढ़क गया। इसके अलावा इंफोसिस, टीसीएस, विप्रो और टेक महिंद्रा के स्टॉक में भी बिकवाली का माहौल रहा। 

HCL, Infosys से टीसीएस तक, बिखर गए IT सेक्टर के शेयर, समझें वजह
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 09 Dec 2022 09:45 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली हावी रही। इस दौरान आईटी सेक्टर के स्टॉक में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। आईटी सेक्टर में सबसे बड़ी गिरावट HCL के स्टॉक में रही। यह स्टॉक कारोबार के दौरान 7 फीसदी से ज्यादा लुढ़क गया। इसके अलावा इंफोसिस, टीसीएस, विप्रो और टेक महिंद्रा के स्टॉक में भी बिकवाली का माहौल रहा। 

किस शेयर का क्या हाल:
HCL- शेयर का भाव: 1027 रुपया (6.72% की गिरावट)
Infosys- शेयर का भाव: 1569 रुपया (3.15% की गिरावट)
Wipro- शेयर का भाव: 394.05 रुपया (2.39% की गिरावट)
Tech महिंद्रा-शेयर का भाव: 1035.50 रुपया (3.58% की गिरावट)

आईटी सेक्टर में बिकवाली क्यों:  दरअसल, क्रेडिट सुइस सिक्योरिटीज ने देश की आईटी कंपनियों को लेकर चेतावनी जारी की है। ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि प्रमुख भारतीय आईटी कंपनियों का मौजूदा मूल्यांकन अस्थिर है। ब्रोकरेज ने अमेरिका की बिगड़ती आर्थिक स्थिति का हवाला देकर ये  बात कही है। 

आपको बता दें कि भारत के आईटी कंपनियों के लिए अमेरिका सबसे बड़ा मार्केट है। अमेरिका महंगाई और मंदी के द्वंद में है और देश के सेंट्रल बैंक फेड रिजर्व ने आगे भी ब्याज दर बढ़ाए जाने के संकेत दिए हैं। अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने मार्च के बाद से ब्याज दरों में 350 आधार अंकों से अधिक की वृद्धि की है।

एचसीएल पर दबाव की वजह: आईटी कंपनी एचसीएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सी विजयकुमार ने रेवेन्यू 13 से 14 फीसदी की दर से बढ़ सकती है। मैनेजमेंट के मुताबिक बजट में कम खर्च की संभावना है, जिससे दिसंबर तिमाही में रेवेन्यू प्रभावित हो सकता है। 

एसबीआई एमएफ में इक्विटी के पूर्व प्रमुख संदीप सभरवाल ने एक ट्वीट में कहा: "छोटी चेतावनियां शुरू हो गई हैं। जैसे-जैसे हम 2023 में आगे बढ़ेंगे, यह बड़ा होता जाएगा।"

जानें Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।