Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़GQG Partners the solution to Adani Group crisis became the largest investor overtook LIC in holdings

अडानी ग्रुप का संकट मोचक जीक्यूजी पार्टनर्स बना सबसे बड़ा निवेशक, होल्डिंग्स में एलआईसी को पछाड़ा

Adani Group News: 9 अरब डॉलर के शेयरों के साथ GQG पार्टनर्स अडानी की कंपनियों में सबसे बड़ा निवेशक बन गया है। LIC ने अडानी एंटरप्राइजेज,एनर्जी सॉल्यूशंस और अडानी पोर्ट्स में हिस्सेदारी कम किया है

Drigraj Madheshia लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीWed, 28 Feb 2024 10:11 AM
हमें फॉलो करें

अडानी ग्रुप के संकट मोचक बने राजीव जैन ग्रुप के अधिकांश शेयरों में धीरे-धीरे अपना निवेश इतना बढ़ाया कि उनकी कंपनी इस अडानी के शेयरों में सबसे बड़ी निवेशक बन गई। करीब 9 अरब डॉलर के शेयरों के साथ GQG पार्टनर्स ने एलआईसी को पीछे छोड़ दिया है। GQG पार्टनर्स ने जहां पिछले छह महीनों में अडानी ग्रुप की अधिकांश कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है, वहीं देश के सबसे बड़े संस्थागत निवेशक एलआईसी ने अडानी ग्रुप की तीन कंपनियों अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस और अडानी पोर्ट्स में अपनी हिस्सेदारी कम कर दी है।

दिसंबर तिमाही के दौरान एलआईसी ने अडानी पोर्ट्स में अपनी हिस्सेदारी 1.2 फीसद घटाकर 7.86% कर दी। जबकि, अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस में एलआईसी ने क्रमिक रूप से अपनी हिस्सेदारी 3.68% से घटाकर 3% कर दी। मंगलवार को बंद होने तक अडानी के शेयरों में एलआईसी के शेयरों का मूल्य ₹63,100 करोड़ था।

केवल दो कंपनियों में निवेश की वैल्यू अब ₹39,000 करोड़
अडानी ग्रुप की केवल दो कंपनियों में जीक्यूजी पार्टनर्स के निवेश की वैल्यू अब ₹39,000 करोड़ है। इसकी अडानी पावर में हिस्सेदारी 7.73% और अडानी ग्रीन एनर्जी में 7.1% है।

इसी तरह अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस में भी इसकी हिस्सेदारी 6.5% और अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड में 3.8% है। सीएनबीसी-टीवी18 के साथ एक विशेष बातचीत में जीक्यूजी पार्टनर्स के राजीव जैन ने कहा कि ग्रोथ कैपेक्स को कम करना या बढ़ाना आसान है। जब आईआरआर उच्च स्तर पर हो तो पूंजी तक पहुंच कोई समस्या नहीं है।

अडानी पावर और अडानी ग्रीन एनर्जी में सबसे अधिक हिस्सेदारी

अडानी पावर और अडानी ग्रीन एनर्जी में जीक्यूजी पार्टनर्स की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा है। इन दोनों स्टॉक्स ने पिछले छह महीनों में ग्रुप की कंपनियों के बीच सबसे अच्छा रिटर्न दिया है। उदाहरण के लिए, जबकि अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयर पिछले छह महीनों में दोगुने से अधिक हो गए हैं, इसी अवधि के दौरान अडानी पावर के शेयर में 74% की बढ़ोतरी हुई है।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें