DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़े और स्मार्ट शहरों में होंगे 1000 इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन

electric vehicle  file pic

सरकार ने फेम-दो योजना के तहत बड़े और स्मार्ट शहरों में इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग संबंधी बुनियादी ढांचा तैयार करने को लेकर इकाइयों से प्रस्ताव आमंत्रित किया है। फेम योजना बिजली वाहनों को तेजी से उपयोग और विनिर्माण को प्रोत्साहन देने की योजना है।

भारी उद्योग मंत्रालय ने कहा कि 2011 की जनगणना के अनुसार 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहर और जिन्हें आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा स्मार्ट शहर अधिसूचित किया गया है ऐसे शहरों में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) चार्जिंग बुनियादी ढांचा लगाने की इच्छुक इकाइयों से प्रस्ताव आमंत्रित किये गये हैं।

'पेट्रोल-डीजल वाहन को पूरी तरह बंद नहीं करेंगे'

इसके साथ ही सात महानगरों (दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरू और अहमदाबाद) के आस-पास के शहरों, विशेष श्रेणी के राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के बड़े शहरों, तथा सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों की उन राजधानी के लिये भी प्रस्ताव आमंत्रित किये गये हैं जो उक्त श्रेणी में नहीं आते।

भारी उद्योग मंत्रालय ने कहा, ''शुरू में रुचि पत्र के जरिये 1,000 ईवी चार्जिंग स्टेशन लगाने का लक्ष्य रखा गया है...।" मंत्रालय के अनुसार रुचि प्रस्ताव जमा करने की अंतिम तिथि 20 अगस्त है।

पॉलिसी समय से पहले बंद कराने पर 90 फीसद तक मिलेगा पैसा

उल्लेखनीय है कि सरकार ने हाल ही में फेम योजना (बिजली वाहनों को तेजी से उपयोग और विनिर्माण को प्रोत्साहन देने की योजना) के दूसरे चरण को मंजूरी दी है। एक अप्रैल 2019 से शुरू तीन साल की योजना के लिये कुल 10,000 करोड़ रुपये का बजटीय समर्थन दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Govt invites proposals for deployment of electric vehicle charging infrastructure