DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अक्षय तृतीया: बढ़ती मांग से महंगा हुआ सोना, खरीदने से पहले जानें ये बातें

अक्षय तीज से पहले सोने की चमक बढ़ी
अक्षय तीज से पहले सोने की चमक बढ़ी

मजबूत वैश्विक सकेतों के और अक्षय तृतीया को देखते हुए सोना और चमका है। इसकी कीमत आज 350 रुपये की तेजी के साथ 32,350 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं का उठाव बढ़ने से चांदी भी 400 रुपये की तेजी के साथ 40,300 रुपये प्रति किलोग्राम हो गयी।


सर्राफा कारोबारियों ने सोने की कीमतों में तेजी का श्रेय घरेलू हाजिर बाजार में 'अक्षय तृतीया  त्यौहार से पहले फुटकर मांग को देखते हुये स्थानीय आभूषण विक्रेताओं की लिवाली बढ़ने तथा वैश्विक बाजार में सर्राफा मांग बढ़ने के कारण मजबूती के रुख को दिया।  वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में कल सोना 0.01 प्रतिशत की तेजी के साथ 1,345.50 डॉलर प्रति औंस रहा जबकि चांदी 0.06 प्रतिशत की तेजी के साथ 16.64 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई। उन्होंने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट से भी बहुमूल्य धातुओं में तेजी को समर्थन मिला। 


राष्ट्रीय राजधानी, दिल्ली में, 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना 350 - 350 रुपये की तेजी के साथ क्रमश : 32,350 रुपये और 32,200 रुपये प्रति दस ग्राम हो गया। कल सोने में 100 रुपये की गिरावट आई थी। 

आठ ग्राम वाली गिन्नी की कीमत भी 100 रुपये की तेजी के साथ 24,900 रुपये प्रति इकाई हो गयी। सोने की तरह चांदी तैयार की कीमत 400 रुपये बढ़कर 40,300 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी साप्ताहिक डिलीवरी की कीमत 290 रुपये बढ़कर 39,240 रुपये प्रति किलोग्राम हो गयी। चांदी सिक्का भी 1,000 रुपये की तेजी के साथ लिवाल 75,000 रुपये और बिकवाल 76,000 रुपये प्रति सैकड़ा हो गया।


अगली स्लाइड में पढ़ें- सोना खरीदते हॉलमार्क जरूर देखें

अक्षय तृतीय पर सोना खरीदते हॉलमार्क जरूर देखें
अक्षय तृतीय पर सोना खरीदते हॉलमार्क जरूर देखें

अक्षय तृतीया और धनतेरस पर भारतीय सरार्फा बाजार की रौनक बढ़ जाती है, क्योंकि ये दोनों ही कीमती धातु की खरीदारी के त्योहार हैं। इस साल बुधवार को अक्षय तृतीया है। इस अवसर पर सोने की खरीदारी से पहले हॉलमार्क देखकर सोने की शुद्धता अवश्य परखें।

 

खन्ना जेम्स प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक और प्रबंध निदेशक पंकज खन्ना ने मीडिया को बताया कि सोने की खरीदारी करते समय हॉलमार्क देखना न भूलें, क्योंकि इसी से सोने की शुद्धता की पहचान होती है।


खन्ना ने कहा, 'देश में सोने की सबसे ज्यादा खरीदारी धनतेरस और अक्षय तृतीया पर होती है। सोने की जितनी खरीदारी एक महीने में होती है, उससे ज्यादा इन दोनों त्योहारों पर होती है। अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदना काफी शुभ माना जाता है। लेकिन, कभी-कभी खरीदारी करते समय लोग सोने परखते नहीं हैं और धोखा खा जाते हैं।'


उन्होंने कहा, 'शुद्ध सोना 24 कैरट का होता है। मगर, 24 कैरट के सोने से गहने नहीं बन पाते हैं। गहने बनाने के लिए 22 या 18 कैरट के सोने का इस्तेमाल होता है और 22 कैरट की कीमत 24 कैरट से कम होती। ज्वेलर से सोने की शुद्धता और कीमत जानकर उससे बिल पर जरूर लिखवाएं।'

 

पंकज के अनुसार, 'कई बार लोग हॉलमार्क के निशान नहीं देखते हैं। अगर आप इसके बारे में नहीं जानते तो किसी सुनार से या खुद ऑनलाइन इसके बारे में पता कर सकते हैं। वहीं सोने के आभूषणों में नग लगे होते हैं। ऐसे में सुनार आपसे नग की कीमत भी वसूल करता है। जब भी नग लगे आभूषण खरीदें, तो सुनार से उन नगों का रत्ती के बारे में भी पूछें और शुद्धता का पैमाना जानने के बाद उसका सर्टिफिकेट भी लें। जानकार दुकानदार से ही सोना खरीदें।'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:gold prices go up before the akshaya tritiya read the hallmark while purchasing