DA Image
31 अक्तूबर, 2020|7:48|IST

अगली स्टोरी

Gold Price Review: सोना 12519 रुपये सस्ता था आज से एक साल पहले, इस अक्टूबर में मामूली तेजी

gold price review                                                                 5376

करवा चौथ, धनतेरस और दिवाली के मौके पर सोना खरीदने वालों के लिए अभी भी फायदे का सौदा है। जनवरी से अब तक करीब 27 फीसद से अधिक रिटर्न देने वाला सोना अपने सर्वोच्च शिखर से अभी भी 5414 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता है। हालांकि अक्टूबर में इसकी कीमतों में 398 रुपये की बढ़ोतरी हुई है, लेकिन अगस्त के रेट की तुलना में यह अभी भी सस्ता है। सात अगस्त को सोना 56126 रुपये प्रति 10 ग्राम व चांदी 75013 रुपये प्रति किलोग्राम के रेट से बंद हुई थी। इस दिन सुबह सोना ऑलटाइम हाई रिकॉर्ड स्थापित करते हुए 56254 रुपये पर खुला था।

यह भी पढ़ें: सोना दिवाली से पहले बड़े धमाके को तैयार, धनतरेस तक ये रह सकती है कीमत

20 से 29 अक्टूबर के बीच ऐसी रही सोने-चांदी की चाल

तारीख सोने का सुबह का रेट (रुपये/10 ग्राम) सोने का शाम का रेट (रुपये/10 ग्राम) चांदी का सुबह का रेट (रुपये/ किलो ग्राम)

चांदी का शाम का रेट (रुपये/ किलो ग्राम)

29  50710 50840 60087 59926
28  51235 50989 62104 61430
27  51277 51043 62226 61991
26  50969 51238 61193 61706
23  51041 51223 62080 62545
22  51312 51350 62720 62779
21 51222 51366 63089 63263
20  50813 50976 61622 62178

स्रोत: IBJA

यह भी पढ़ें: Gold Price Latest: सस्ते हो गए सोना-चांदी, जानें ताजा भाव

करवा चौथ, धनतेरस और दिवाली को देखते हुए कारोबारियों को मांग में तेजी की उम्मीद है। पिछले साल 29 अक्टूबर को सर्राफा बाजार में 24 कैरेट सोने का भाव 38321 रुपये था और इस साल इसी डेट को 50840 रुपये। यानी पिछले साल की तुलना में सोना 12519 रुपये चढ़ चुका है। अगर चांदी की बात करें तो चांदी इस साल के अपने उच्च भाव से 16082 रुपये प्रति किलो तक टूट चुकी है। जबकि इस महीने चांदी के रेट में महज 48 रुपये की गिरावट आई। साल 2019 की तुलना में चांदी 14086 रुपये महंगी हो चुकी है। 29 अक्टूबर सर्राफा बाजारों में चांदी का हाजिर भाव 45840 रुपये किलो था। 

संभलर करें सोने में निवेश

इस साल सोने की कीमतों में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है। एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड रिसर्स) अनुज गुप्ता का कहना है कि केवल ऊंचे रिटर्न देखकर सोने में निवेश घाटे का सौदा हो सकता है। गुप्ता का कहना है कि सोने की कीमतों में तेजी कोरोना संकट और आर्थिक अनिश्चितता की वजह से आ रही है। यदि इसका टीका तैयार हो गया तो कीमतों में तेज गिरावट देखने को मिल सकती है। ऐसे में संभलकर और थोड़ी-थोड़ी खरीदारी फायदेमंद हो सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gold Price Review sona 12519 rupye sasta tha ek saal pahle slight rise in October