DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोना हुआ सस्ता, चांदी के भी घटे दाम 

gold

वैश्विक स्तर पर पीली धातु में गिरावट और आभूषण निमार्ताओं की ओर से कमजोर माँग के कारण दिल्ली सरार्फा बाजार में सोना सोमवार को 200 रुपये लुढ़ककर करीब साढ़े महीने के निचले स्तर 32,620 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। चाँदी भी 80 रुपये टूटकर 38,100 रुपये प्रति किलोग्राम रह गयी। 

विदेशों से मिली जानकारी के अनुसार, वहाँ सोना एक सप्ताह के निचले स्तर पर उतर गया। सोना हाजिर तीन डॉलर की गिरावट में 1,287.15 डॉलर प्रति औंस बिका। जून का अमेरिकी सोना वायदा भी 5.10 डॉलर कमजोर होकर 1,290.10 डॉलर प्रति औंस रह गया। 

बाजार विश्लेषकों ने बताया कि चीन के नियार्त के अच्छे आँकड़े आने और अमेरिका के साथ उसके व्यापारिक रिश्तों में सुधार की उम्मीद से निवेशकों ने पीली धातु की बजाय शेयर में निवेश किया। इससे एशियाई शेयर बाजार नौ महीने के उच्चतम स्तर पर पहुँच गये और सोने पर दबाव रहा।  अंतरार्ष्ट्रीय बाजार में चाँदी हाजिर 14.93 डॉलर प्रति औंस पर टिकी रही। 

स्थानीय बाजार में सोने-चाँदी में लगातार चौथे दिन गिरावट रही। चार दिन में सोना 450 रुपये सस्ता हुआ है। आज सोना स्टैंडर्ड 200 रुपये लुढ़ककर 32,620 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। सोना बिटुर भी इनती ही गिरावट के साथ 32,450 रुपये प्रति दस ग्राम बिका। यह दोनों का इस साल पांच जनवरी के बाद का निचला स्तर है। आठ ग्राम वाली गिन्नी 26,400 रुपये पर स्थिर रही। 

चाँदी की औद्योगिक माँग कमजोर रही। चाँदी हाजिर 80 रुपये टूटकर 38,100 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी। यह 09 अप्रैल के बाद का इसका निचला स्तर है। चाँदी वायदा 230 रुपये की गिरावट में 36,990 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गयी। सिक्का लिवाली और बिकवाली क्रमश: 80 हजार और 81 हजार रुपये प्रति सैकड़ा पर अपरिवर्तित रहे। 

दिल्ली सरार्फा बाजार में दोनों कीमती धातुओं के दाम (रुपये में) इस प्रकार रहे:-

सोना स्टैंडर्ड प्रति 10 ग्राम : 32,620
सोना बिटुर प्रति 10 ग्राम : 32,450
चाँदी हाजिर प्रति किलोग्राम: 38,100
चांदी वायदा प्रति किलोग्राम : 36,990
सिक्का लिवाली प्रति सैकड़ा : 80,000
सिक्का बिकवाली प्रति सैकड़ा : 81,000
गिन्नी प्रति आठ ग्राम : 26,400

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gold price down because of less demand and silver price is also down