DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है सोने का दाम, कोरोना की महामारी में संकट का साथी बनेगा Gold में निवेश
बिजनेस

52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है सोने का दाम, कोरोना की महामारी में संकट का साथी बनेगा Gold में निवेश

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Drigraj
Tue, 31 Mar 2020 04:04 PM
52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है सोने का दाम, कोरोना की महामारी में संकट का साथी बनेगा Gold में निवेश

कोरोना न केवल लोगों के लिए काल बन गया है बल्कि दुनिया की अर्थव्यवस्था  को भी आईसीयू में पहुंचा रहा है। दुनियाभर के शेयर बाजार धड़ाम हो चुके हैं। लोगों की नौकरियां जा रही हैं हैं और जिनकी बची है उनपर खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में बुरे समय का साथी बनेगा सोना। कोरोना संकट के दौरान 45000 रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंच चुका सोना ( Gold) आने वाले महीनों में 50हजारी हो सकता है। 

पिछले साल सोने ने 25 फीसदी का रिटर्न दिया था

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एवं करेंसी) अनुज गुप्ता ने हिन्दुस्तान को बताया कि कोरोना वायरस संकट गहराने से शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी रह सकता है। इससे निवेशक सोने में निवेश बढ़ाएंगे। इसके चलते सोने में नया-नया रिकॉर्ड बनेगा। पिछले साल सोने ने 25 फीसदी का रिटर्न दिया था। वहीं केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि अक्षय तृतीया पर अगर सोना 50,000 रुपये के स्तर को नहीं तोड़ पाया तो पहली तिमाही के आखिर में जून तक पीली धातु का भाव 50,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के ऊपर जा सकता है।

यह भी पढ़ें: Market Live:शेयर बाजार में रौनक बरकरार, सेंसेक्स में 1237 अंकों की उछाल, निफ्टी 8,600 के पार

उन्होंने कहा कि "हाल के दिनों में शेयर बाजार में गिरावट के साथ सोने के भाव में भी गिरावट ठीक उसी प्रकार देखने को मिली, जिस प्रकार 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के दौरान मिली थी, लेकिन उसके बाद सोने में तेजी आई और 2011 में सोना रिकॉर्ड ऊंचाई पर जा पहुंचा। कॉमेक्स पर सोना छह सितंबर, 2011 को 1,911.60 डॉलर प्रति औंस तक उछला था।

52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है गोल्ड

वहीं इंडिया बुलियन बुलियन एंड ज्वलर्स एसोसिएशन (IBJA) के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता का अनुमान है कि निकट भविष्य में भारत में सोने का भाव 50,000 रुपये से ऊपर जा सकता है और यह 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक के स्तर को छू सकता है। उन्होंने कहा कि सोना संकट का साथी बनता है और जब आर्थिक आंकड़ों में गिरावट आएगी तो सोने के प्रति निवेशकों का रुझान बढ़ेगा।

लॉकडाउन समाप्त होने के बाद गुलजार होगा सर्राफा बाजार

इस बीच, सर्राफा कारोबारी देश में कोरोनावायरस के प्रकोप पर लगाम लगने की राह देख रहे हैं, क्योंकि 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद जब बाजार खुलेगा तो वे अक्षय तृतीया की तैयारी कर पाएंगे। देश में सोने की खरीदारी के लिए अक्षय तृतीया को शुभ मुहूर्त माना जाता है और हर साल इस अवसर पर लोग आभूषणों की खूब खरीददारी करते हैं। इस बार अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को है।

यह भी पढें: 100 साल पहले भी दुनिया ने हाथ धोकर बचाई थी अपनी जान, वायरस से लड़ने में अखबारों का था बड़ा योगदान

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर मंगलवार दोपहर 12.41 बजे सोने के जून वायदे में 43,381 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था। वहीं, चांदी के मई अनुबंध में पिछले सत्र से 179 रुपये की तेजी के साथ 39,977 रुपये प्रति किलो पर कारोबार चल रहा था। वहीं, अंतरार्ष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने के जून वायदे में पिछले सत्र से 8.05 डॉलर की कमजोरी के साथ 1,635.15 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था। वहीं, चांदी के मई अनुबंध में पिछले सत्र से 1.14 फीसदी की तेजी के साथ 14.29 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था।

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें