DA Image
12 जुलाई, 2020|6:38|IST

अगली स्टोरी

लगातार पांचवें महीने अप्रैल में सोना आयात में गिरावट, स्वर्ण आभूषणों का निर्यात 98.74 प्रतिशत गिरा

25 kg gold jewelery looted in ludhiana  file photo

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच सोने-चांदी की कीमते भले ही आसमान छू रहीं हों पर हकीकत ये है कि न केवल सोने का आयात घटा है बल्कि  रत्न और आभूषण का निर्यात अप्रैल में 98.74 प्रतिशत गिरा है। देश का सोना आयात अप्रैल में लगातार पांचवे महीने गिरा। कोविड-19 संक्रमण के चलते वैश्विक लॉकडाउन की वजह से यह 100 प्रतिशत गिरकर 28.3 लाख डॉलर का रहा। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार अप्रैल 2019 में यह 39.7 अरब डॉलर था। सोने का आयात गिरने से देश का व्यापार घाटा कम करने में मदद मिली है। देश का व्यापार घाटा अप्रैल में 6.8 अरब डॉलर रहा जो पिछले साल अप्रैल में 15.33 अरब डॉलर था। देश के सोना आयात में दिसंबर से गिरावट जारी है।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा आयातक

भारत दुनिया का सबसे बड़ा सोना आयातक है। देश में हर साल करीब 800 से 900 टन सोने का आयात होता है। देश से रत्न और आभूषण का निर्यात अप्रैल में 98.74 प्रतिशत गिरकर 3.6 करोड़ डॉलर का रहा। वित्त वर्ष 2019-20 में देश का स्वर्ण आयात 14.23 प्रतिशत गिरकर 28.2 अरब डॉलर रहा जो 2018-19 में 32.91 अरब डॉलर था। सोने का आयात देश के चालू खाते के घाटे पर बड़ा बोझ डालता है। चालू खाते के घाटे से आशय देश में विदेशी पूंजी के आने और जाने के बीच का अंतर है।

sovereign gold bond 2019 20 can invest between 2 to 6 march

मार्च में रत्नाभूषण निर्यात 38.8 प्रतिशत नीचे

भारत से रत्न और आभूष्णों का निर्यात पिछले वित्त वर्ष के अंतिम मास मार्च में एक साल पहले की तुलना में 38.81 प्रतिशत गिर कर 13,744.60 करोड़ रुपये के बराबर रहा। पिछले साल मार्च में यह आंकड़ा 22,463.17 करोड़ रुपये के बराबर था। रत्न एवं आभूषण निर्यात संवर्द्धन परिषद (जीजेईपीसी) के अनुसार वर्ष 2019-20 में इस क्षेत्र का कुल निर्यात 2,51,096,30 करोड़ रुपये रहा। यह 2018-19 में दर्ज 2,75,671.80 करोड़ रुपये से 8.91 प्रतिशत कम है। कोरोना वायरस महामारी ने दुनियाभर में कारोबार प्रभावित कर रखा है।

यह भी पढ़ें: Gold Price: लॉकडाउन में खूब उछल रही है सोने की कीमत, जानें कहां तक पहुंचेगी

जीजेईपीसी के उपाध्यक्ष कॉलिन शाह ने पीटीआई-भाषा से कहा कि इन आंकड़ों में कोविड-19 महामारी के कारण दुनिया भर में रत्न-आभूषण की मांग में गिरावट की झलक मिलती है। उन्होंने कहा कि 'सरकार को इस क्षेत्र पर तत्काल ध्यान देना चाहिए और इसके लिए विशेष पैकेज लाना चाहिए। इस बीच इस बार मार्च में तराशे और पॉलिश किए गए हीरों का निर्यात पिछले साल से 45 प्रतिशत कम रहा। पिछले साल मार्च में ऐसे हीरों का निर्यात 12,910.44 करोड़ रुपये था। इस बार यह 7100.75 करोड़ रहा। पूरे वित्त वर्ष में तराशे ओर पॉलिश हीरों का निर्यात 20.75 प्रतिशत गिर कर 1,31,980.87 करोड़ रुपये रहा। वर्ष 2018-19 में निर्यात 1,66,532.07 करोड़ रुपये का था। 

स्वर्ण आभूषणों का निर्यात 40.07 प्रतिशत गिरा

gold

इसी तरह मार्च में स्वर्ण आभूषणों का निर्यात 40.07 प्रतिशत गिर कर 4,152.39 करोड़ रुपये पर आ गया मार्च, 2019 में इसका निर्यात 6,929.11 करोड़ रुपये था। हालांकि पूरे वित्त वर्ष में स्वर्ण आभूषणों का निर्यात 3.57 प्रतिशत बढ कर 84,747.08 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले 81,824.57 करोड़ रुपये था।
चांदी के आभूषणों का निर्यात 105.60 प्रतिशत बढ़ा

यह भी पढ़ें: Bank Holiday 2020: जून से दिसंबर 2020 तक इतने दिन बैंक रहेंगे बंद, देखें लिस्ट

अप्रैल-मार्च 2019-20 में चांदी के आभूषणों का निर्यात 105.60 प्रतिशत बढ़ कर 12,018.09 करोड़ रुपये रहा । एक साल पहले यह 5,845.37 करोड़ रुपये के बराबर था। वर्ष के दौरान रंगीन रत्नों का निर्यात 18.18 प्रतिशत गिर कर 2,272.44 करोड़ रुपये का रहा। वही इस अवधि में क्षेत्र का आयात 5.74 प्रतिशत गिर कर 24.01 अरब डॉलर का रहा जो एक साल पहले 25.48 अरब डॉलर के बराबर था। पिछले वित्त वर्ष में बिना तराशे हीरों का आयात 16.25 प्रतिशत गिर कर 12.68 अरब डॉलर के बराबर रहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gold imports fall in April for the fifth consecutive month gold jewelery exports fall by 98 percent