DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  गौतम अडाणी मुकेश अंबानी से छीन सकते हैं भारत के सबसे अमीर का ताज

बिजनेसगौतम अडाणी मुकेश अंबानी से छीन सकते हैं भारत के सबसे अमीर का ताज

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Drigraj Madheshia
Sat, 08 May 2021 03:43 PM
गौतम अडाणी मुकेश अंबानी से छीन सकते हैं भारत के सबसे अमीर का ताज

भारत ही नहीं बल्कि एशिया के सबसे अमीर का ताज इस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के सिर पर है और यह कभी भी छिन सकता है। इस ताज की ओर बड़ी तेजी से अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी बढ़ रहे हैं।  2021 में जिस तरह गौतम अडाणी की संपत्ति में उछाल आया है, वह अब मुकेश अंबानी से केवल 12 अरब डॉलर दूर हैं। वहीं दूसरी तरफ अंबानी की संपत्ति में उस तरह तेजी नहीं दिख रही है।

यह भी पढ़ें: अडाणी ट्रांसमिशन को मार्च तिमाही में 256.55 करोड़ रुपये का चार गुना मुनाफा

ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स पर दिए गए आंकड़े के मुताबिक गौतम अडाणी की कुल संपत्ति 62.7 अरब डॉलर है तो मुकेश अंबानी की 74.1 अरब डॉलर। गौतम अडाणी इस समय देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स हैं और अडाणी ग्रुप की छह कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड है। अडाणी पोर्ट, अडाणी एंटरप्राइजेज, अडाणी गैस , अडाणी पावर , अडाणी ट्रांसमिशन  और अडाणी ग्रीन एनर्जी के शेयरों में पिछले एक साल में जबरदस्त उछाल देखने को मिला। 

इस समय दुनिया के अरबपतियों के लिस्ट में 13वें नंबर पर मुकेश अंबानी हैं। इस साल यानी 2021 में उनकी संपत्ति में 2.62 अरब डॉलर (करीब 20 हजार करोड़) की गिरावट आई है वहीं  ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स में 19वें पायदान पर पहुंचे गौतम अडाणी का नेटवर्थ इस साल 29 अरब डॉलर (2 लाख करोड़ से ज्यादा) बढ़ा है।  2021 में संपत्ति में तेजी के मामले में वे दुनिया में एलन मस्क, जेफ बेजोस, मार्क जुकरबर्ग, बिलगेट्स को पीछे छोड़ दूसरे नंबर पर हैं। उनसे ज्यादा केवल फ्रांस के अरबपति Bernard Arnault की संपत्ति में 42.30 अरब डॉलर की तेजी आई है।

top 10 billionaires

वहीं, इस साल अबतक बेजोस की संपत्ति में केवल 1.78 अरब डॉलर का ही इजाफा हुआ है। इनके अलावा बिलगेट्स की संपत्ति इस दौरान 14.1 अरब डॉलर बढ़ी, वहीं फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की 15.4 अरब डॉलर, वॉरेन बफेट की 22.3 अरब डॉलर,  लैरी पेज की 25.2 अरब डॉलर, स्टीव बॉल्मर की 10.0 अरब डॉलर और लैरी एलिशन की संपत्ति में 14.3 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है।

संबंधित खबरें